ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News AstrologySankashti Chaturthi on 30th November Note down the muhurat puja vidhi and moonrise time

30 नवंबर को संकष्टी चतुर्थी, नोट कर लें पूजा मुहूर्त, विधि और चंद्रोदय समय

Sankashti Chaturthi 2023: गणाधिप संकष्टी चतुर्थी 30 नवंबर को पड़ रही है। इस दिन पूरे विधि-विधान से भगवान गणेश की पूजा करने से सभी कष्टों का निवारण होता है।

30 नवंबर को संकष्टी चतुर्थी, नोट कर लें पूजा मुहूर्त, विधि और चंद्रोदय समय
Shrishti Chaubeyलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीWed, 29 Nov 2023 01:53 PM
ऐप पर पढ़ें

Ganadhipa Sankashti Chaturthi 2023: मान्यताओं के अनुसार, किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत भगवान गणेश की पूजा के बिना नहीं की जाती। वहीं, संकष्टी चतुर्थी भगवान श्री गणेश को समर्पित है। इस चतुर्थी पर पूरे विधि-विधान से भगवान श्री गणेश का पूजन किया जाता है। मार्गशीर्ष मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि पर संकष्टी च तुर्थी का व्रत रखा जाता है, जिसे  गणाधिप संकष्टी चतुर्थी भी कहते हैं। भगवान गणेश का आशीर्वाद पाने और अपने जीवन की मुश्किलों को दूर करने के लिए कई लोगों इस दिन व्रत भी रखते हैं, जिसका पारण चंद्र दर्शन के बाद ही किया जाता है। इसलिए आइए जानते हैं संकष्टी चतुर्थी पूजा का मुहूर्त, विधि और चंद्रोदय का समय- 

30 नवंबर से बदलेगी इन राशियों की किस्मत, शुक्र देंगे जबरदस्त लाभ

संकष्टी चतुर्थी शुभ मुहूर्त 
कार्तिक माह, कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि की शुरुआत- 30 नवंबर, दोपहर 02 बजकर 24 मिनट पर 
कार्तिक माह, कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि समाप्त- 01 दिसंबर, दोपहर 03 बजकर 31 तक  
चन्द्रमा दर्शन समय- शाम 07 बजकर 54 मिनट 

पूजा की विधि 
1- भगवान गणेश जी का जलाभिषेक करें 
2- गणेश भगवान को पुष्प, फल चढ़ाएं और पीला चंदन लगाएं 
3- तिल या बूंदी के लड्डू का भोग लगाएं  
4- संकष्टी चतुर्थी कथा का पाठ करें 
5- ॐ गं गणपतये नमः मंत्र का जाप करें 
6- पूरी श्रद्धा के साथ गणेश जी की आरती करें 
7- चंद्रमा के दर्शन करें और अर्घ्य दें 
8- व्रत का पारण करें 
9- क्षमा प्रार्थना करें 

डिस्क्लेमर: इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। विस्तृत और अधिक जानकारी के लिए संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें