DA Image
6 अगस्त, 2020|8:27|IST

अगली स्टोरी

Sankashti Chaturthi पर आज दुर्लभ संयोग, इस उपाय से मिलेगी गणेश जी की कृपा

lord ganesh, sankashti chaturthi vrat puja timing

निराहार रखा जाने वाला सकट चौथ का व्रत आज रात करीब साढ़े 9 बजे चांद निकलने बाद पूरा होगा। पंडितों के अनुसार इस बार की सकट चतुर्थी दुर्लभ संयोग के साथ आई है। क्योंकि ऐसा लंबे समय बाद यह व्रत हो रहा है जब अर्धकुंभ का पर्व चल रहा है। सकट चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी, तिल कुट चौथ, तिल चौथ, माही चौथ, वक्रतुंडी चतुर्थी, गणेश संकष्टी चतुर्थी, संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी आदि नामों से जाना जाता है। इस दिन भगवान गणेश का व्रत किया जाता है और उनकी पूजा की जाती है। कुछ लोग आज के दिन भगवान विष्णु की भी पूजा करते हैं।

9:30 बजे निकलेगा चंद्रमा
सकट चतुर्थी का व्रत शाम को चंद्रमा के दर्शन के बाद ही पूरा होता है। चंद्रमा निकलने के साथ ही व्रती भगवान गणेश और चंद्रमा की पूजा करेंगे और अर्घ्य देकर अपने व्रत का पारण करेंगे। आज चंद्रमा के दर्शन का विशेष महत्व है क्योंकि माना जाता है कि आज के दिन चंद्रमा के दर्शन का पुण्य भगवान गणेश के दर्शन करने के बराबर होता है। 


भगवान गणेश की कृपा पाने और उन्हें प्रसन्न के करने के लिए करें ये उपाय-

1- अगर आप अपनी सभी मनोकामनाएं पूरी करना चाहते हैं तो भगवान गणेश को रोली और चंदन का तिलक लगाएं और इस मंत्र का पूरी श्रद्धा के साथ 11 बार जप करें- 
मंत्र - वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ:
निर्विघ्नं कुरूमे देव सर्व कार्येषु सर्वदा।


2- जीवन में किसी प्रकार की समस्या है तो आज के भगवान गणेश की विधिपूर्वक पूजा करके तिल और गुड़ के लड्डुओं का भगवान गणेश को भोग लगाएं। ये लड्डू प्रसाद के रूप में बच्चों को भी बांटें। माना जाता है कि आज के दिन ऐसा करने से इंसान सभी परेशानियों से मुक्त हो जाता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Sankashti Chaturthi 2019 read the Ganesha chaturthi puja widhi moon rising time and upay to get the grace of lord ganesha