ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News AstrologySakat Chauth vrat exact date and time which is the biggest Chauth puja vidhi how to puja chand and moon rise time

Sakat Chauth व्रत की exact date, सबसे बड़ी चौथ कौन सी है? सकट सर्वार्थसिद्धि योग में, पूजा का मुहूर्त और चांद की किस समय कैसे करें पूजा

Sakat Chauth kab hai Sakat Chauth vrat exact date and time: साल भर में हर महीने में दो बार चतुर्थी तिथि पड़ती है। कई चतुर्थी तिथि के बारे में आप जानते होंगे, जैसे करवा चौथ, गणेश चतुर्थी आदि लेकिन जनव

Sakat Chauth व्रत की exact date, सबसे बड़ी चौथ कौन सी है? सकट सर्वार्थसिद्धि योग में, पूजा का मुहूर्त और चांद की किस समय कैसे करें पूजा
Anuradha Pandeyलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 28 Jan 2024 06:02 AM
ऐप पर पढ़ें

Sakat Chauth vrat exact date and time: साल भर में हर महीने में दो बार चतुर्थी तिथि पड़ती है। कई चतुर्थी तिथि के बारे में आप जानते होंगे, जैसे करवा चौथ, गणेश चतुर्थी आदि लेकिन जनवरी में आने वाली माघ मास की चौथ को सकट चौथ कहते हैं। ऐसा कहा जाता है कि भगवान गणेश इसी दिन प्रकट हुए थे। इसलिए इस चौथ को धूमधाम से मनाया जाता है। इस साल माघ मास 26 जनवरी से लग रहे हैं। 29 तारीख को चतुर्थी तिथि सुबह 6 बजे शुरू हो रही है। ऐसे में उदया तिथि के अनुसार यह 30 तारीख को होनी चाहिए, लेकिन सकट चौथ पर चौथ के चांद को ही अर्घ्य दिया जाता है, इसलिए चौथ का चांद 29 तारीख को ही दिखेगा, इसलिए बेहद शुभ संयोग सर्वार्थसिद्धि योग के साथ 29 जनवरी को सकट चौथ मनाई जाएगी।

इसे संकष्टी तिल चतुर्थी, गौरी चतुर्थी, माघी चौथ, वक्रतुण्ड चौथ, तिलकुटा चौथ आदि नामों से भी जाना जाता है। इस दिन महिलाएं अपनी संतान की लंबी आयु के लिए व्रत रखती हैं। निर्जला रहकर व्रत रखती है और शाम को चांद को देखकर व्रत खोलती हैं।

माघ कृष्णपक्ष की चतुर्थी
29 जनवरी को सुबह 6.11 बजे से मध्यरात्रि तक
चंद्रोदय- रात 8 52 बजे चंद्रोदय होगा। अलग-अलग शहरों में चांद निकलने का समय अलग-अलग होगा। इसमें 10 मिनट का अंतर होगा।
चंद्रमा को अर्घ्य देकर गणेश जी की अर्चना की जाएगी। आपको बता दें कि इस बार चांद चौथ के दिन सिंह राशि में रहेंगे। इस दिन थाली सजाकर चांद को जल अर्पित किया जाता है। उनकी आरती उतारकर उन्हें खीर पूड़ी और तिल के प्रसाद का भोग लगाया जाता है। इसके बाद परिक्रमा देकर चांद को प्रणाम किया जाता है।

संकष्टी चतुर्थी व्रत
29 जनवरी, 28 फरवरी, 28 मार्च, 27 अप्रैल, 26 मई, 25 जून, ड्ट 24 जुलाई, 22 अगस्त, 21 सितंबर, 20 अक्तूबर,18 नवम्बर एवं 18 दिसंबर

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें