Ramzan - अल्लाह की नेक बंदों पर बरसी रहमत, अब मगफिरत की बारी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अल्लाह की नेक बंदों पर बरसी रहमत, अब मगफिरत की बारी

मुकद्दस रमजान महीने का दस रमजान का पहला अशरा गुजरने के बाद शुक्रवार से मुकद्दस रमजान का दूसरा मगफिरत का अशरा शुरू हो जाएगा। रमजान अल्लाह की इबादत का खास महीना है। इस मुकद्दस महीने को तीन अशरों में बांटा गया है।

इसमें पहला असरा रहमत का, दूसरा अशरा मगफिरत का और तीसरा असरा जहन्नुम से आजादी का है। दस रमजान का पहला अशरा आज खत्म हो जाएगा। दूसरा अशरा शुक्रवार से शुरू हो रहा है। जिन लोगों की इबादत में पहले अशरे में कोई कमी रह गई है, वह अब दूसरे अशरे में सुधार लें। रोजेदार इबादत करें और अल्लाह से अपने गुनाह की मांगी मांगें। रमजान में अल्लाह अपने नेक बंदों की हर जरूरत को पूरा करते हैं। उसे किसी तरह परेशान नहीं होने देते हैं। पहले अशरे में अल्लाह की रहमतें नेक बंदों पर बरसीं। दूसरा अशरा मगफिरत का और तीसरा अशरा जहन्नुम की आग से आजादी का होता है। दूसरे अशरे में अल्लाह अपने बंदों के गुनाहों को माफ करते हैं। उनकी मुश्किलों को दूर करते हैं। अशरा-ए-मगफिरत के एक-एक पल की कद्र करें। अल्लाह से अपने गुनाहों की माफी मांगें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ramzan