DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   धर्म  ›  Raksha Bandhan 2020: जानें भद्रा में क्यों नहीं बांधते राखी, इस रक्षा बंधन को जानें भद्रा और राहुकाल का समय

पंचांग-पुराणRaksha Bandhan 2020: जानें भद्रा में क्यों नहीं बांधते राखी, इस रक्षा बंधन को जानें भद्रा और राहुकाल का समय

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Anuradha Pandey
Mon, 03 Aug 2020 06:01 AM
Raksha Bandhan 2020: जानें भद्रा में क्यों नहीं बांधते राखी, इस रक्षा बंधन को जानें भद्रा और राहुकाल का समय

रक्षाबंधन का त्‍योहार श्रावण मास के शुक्‍ल पक्ष पूर्णिमा को मनाया जाता है। इसे सलूनों भी कहते हैं। इस साल राखी का त्योहार 3 अगस्त को है। राखी बांधते समय जो याद रखा जाता है वो है भद्रा काल। दरअसल शास्त्रों में राहुकाल और भद्रा के समय शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं। पौराण‍िक मान्‍यताओं के अनुसार भद्रा में राखी न बंधवाने की पीछ कारण है कि लंकापति रावण ने अपनी बहन से भद्रा में राखी बंधवाई और एक साल के अंदर उसका विनाश हो गया। इसलिए इस समय को छोड़कर ही बहनें अपने भाई के राखी बांधती हैं। 

वहीं यह भी कहा जाता है कि भद्रा शनि महाराज की बहन है। उन्हें ब्रह्माजी जी ने शाप दिया था कि जो भी व्यक्ति भद्रा में शुभ काम करेगा, उसका परिणाम अशुभ ही होगा। इसके अलावा राहुकाल में भी राखी नहीं बांधी जाती।

Raksha Bandhan 2020: रक्षा बंधन पर शेयर करें ये SMS

ज्योतिर्विद पं दिवाकर त्रिपाठी पूर्वांचली के अनुसार अधिकतर रक्षा बंधन के पर्व पर भद्रा की साया रहती है लेकिन इस वर्ष भद्रा सुबह दिन में 08:28 तक ही रहेगी। इसके बाद 9 बजे तक राहु काल रहेगा। इसलिए इस समय के बाद राखी बांधी जा सकती है।  दोपहर 2 से शाम 7 बजे के बीच लगातार चर लाभ और अमृत के तीन शुभ चौघड़िया मुहूर्त होंगे। इसलिए दोपहर 2 से शाम 7 बजे के बीच का पूरा समय भी राखी बांधने के लिए शुभ होगा।

Raksha Bandhan 2020: ये है रक्षा बंधन का चौघडिया का शुभ मुहूर्त और आयुष्मान योग, राखी बांधने के लिए ये है अति उत्तम मुहूर्त

सुबह चौघडिया का शुभ मुहूर्त 
सुबह 9 बजे से 10:22 बजे तक
दोपहर 1:40 बजे से सायं 6:37 बजे तक।

संबंधित खबरें