DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Raksha bandhan 2018: जानें रक्षा बंधन से जुड़ी ये कहानियां

raksha bandhan 2017

रविवार 26 अगस्त को रक्षा बंधन मनाया जाएगा। शिवजी के प्रिय श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन होने वाले इस पावन त्योहार में इस बार भद्रा सूर्योदय से पूर्व ही समाप्त हो जाएगी। इसलिए बहनें निश्चिंत होकर अपने भाइयों को राखी बांध सकती हैं। सनातन धर्म की यह विशेषता रही है कि हर पारिवारिक संबंध के लिए त्योहार मनाने का विधान है। रक्षा-सूत्र भाई को अपनी बहन की बराबर याद दिलाता रहता है। यह पर्व महाराज दशरथ के हाथों अपने माता-पिता के साथ तीर्थयात्रा कर रहे श्रवण कुमार की मृत्यु से भी जुड़ा हुआ है। इसलिए इस दिन रक्षा-सूत्र सर्वप्रथम गणेश जी को बांधने के बाद श्रवण कुमार को ही अर्पण किया जाता है। रक्षासूत्र में सरसों, केसर, चंदन, अक्षत और दूब जरूर बांधना चाहिए। रक्षा-सूत्र की पूजा जरूर करनी चाहिए।

रक्षा-सूत्र बांधते समय इस मंत्र का वाचन करें-‘येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबल:। तेन त्वामनुबध्नामि रक्षे मा चल मा चल॥' राखी दाहिनी कलाई पर ही बांधनी चाहिए। संभव हो तो रक्षा-सूत्र के बांधने तक भाई और बहन दोनों उपवास रखें। बहन भाई को मिठाई खिलाती है, आशीर्वाद देती है, तो भाई अपनी बहन की सुरक्षा और खुशहाली के लिए वचनबद्ध हो जाता है। बहन को कपड़े और धन आदि प्रदान करता है।

अगर आप अपने शत्रुओं से परेशान हैं तो इस दिन वरुण देवता की पूजा करें। वरुण देवता की पूजा आपके शत्रुओं का नाश कर देगी। आज के दिन ही भगवान विष्णु ने देवताओं की प्रार्थना पर वामन अवतार लेकर राजा बलि को स्वर्गलोक से वंचित किया था। महाराष्ट्र में नारियल पूर्णिमा या श्रावणी के दिन लोग नदी से समुद्र के तट पर जाकर अपने जनेऊ बदल लेते हैं। इसके अलावा लोग लक्ष्मी के पिता समुद्र देव की भी पूजा करते हैं। धर्मशास्त्रों के अनुसार 12 वर्ष तक चले देव-दानव युद्ध में देवराज इंद्र जब दानवों से हारने लगे, तब उनकी पत्नी इंद्राणी ने रक्षा-सूत्र बांध कर उन्हें विजयी बनाया था। प्राचीन काल में ऋषि-मुनियों के उपदेश की पूर्णाहुति इसी दिन होती थी। वे अपने पास आए राजाओं के हाथों में रक्षा-सूत्र बांध कर उन्हें समस्त प्रजा की रक्षा करने का संकल्प कराते थे। इसी को ध्यान में रख कर बहुत से लोग आज भी अपने कुल ब्राह्मणों से रक्षा-सूत्र बंधवाते हैं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Raksha bandhan 2018: know these stories related to Raksha bandhan
Astro Buddy