DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Radha Ashtami 2018: इस विधि से करें पूजा मिलेगा राधाकृष्ण का आशीर्वाद

radha ashtami vrat

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार भाद्रपद माह की शुक्ल पक्ष की अष्टमी को राधा अष्टमी का पर्व मनाया जाता है। इस साल ये अष्टमी 17 सितंबर 2018 यानी कल मनाई जाएगी। राधा अष्टमी के मौके पर इनकी इस खास से करें पूजा: 

राधा अष्टमी का व्रत कैसे करें 

सबसे पहले सुबह जल्दी उठकर स्नानादि से निवृत्त हो जाएं।

इसके बाद मंडप के नीचे मंडल बनाकर उसके मध्यभाग यानि बीच में मिट्टी या तांबे का कलश स्थापित करें।

कलश पर तांबे का पात्र रखें।

अब इस पात्र पर वस्त्राभूषण से सुसज्जित राधाजी की सोने (संभव हो तो) की प्रतिमा स्थापित करें।

फिर राधा जी का षोडशोपचार से पूजन करें।

ध्यान रहे कि पूजा का समय ठीक मध्याह्न का होना चाहिए।

पूजन के बाद पूरा दिन उपवास करें और एक समय भोजन करें।

दूसरे दिन श्रद्धानुसार सुहागिन स्त्रियों और ब्राह्मणों को भोजन कराएं और उन्हें दक्षिणा दें। 

Radha Ashtami Vrat 2018: जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और कथा

इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:radha ashtami vrat vidhi know here