Hindi Newsधर्म न्यूज़Purnima 2024: When is the full moon in June Note date time pooja muhurat

Purnima 2024: जून में पूर्णिमा कब है?, नोट करें डेट, मुहूर्त टाइम, पूजाविधि

Purnima 2024: पूर्णिमा तिथि पर चंद्रमा को अर्घ्य देना बेहद ही शुभ माना जाता है। मान्यता है जून महीने की पूर्णिमा पर भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा करने से सुख-समृद्धि बनी रहती है।

Shrishti Chaubey लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीTue, 11 June 2024 05:29 AM
हमें फॉलो करें

Purnima 2024 : ज्योतिष विद्या में ज्येष्ठ पूर्णिमा विशेष महत्व रखती है। ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन विष्णु भगवान और माता लक्ष्मी की आराधना की जाएगी। पूर्णिमा तिथि पर चंद्रमा को अर्घ्य देना बेहद ही शुभ माना जाता है। मान्यता है जून महीने की पूर्णिमा पर भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की एक साथ पूरी श्रद्धा के साथ पूजा करने से सुख-समृद्धि और शांति बनी रहती है। आइए जानते हैं ज्येष्ठ पूर्णिमा की सही डेट, पूजन शुभ मुहूर्त, और पूजा विधि-

ज्येष्ठ पूर्णिमा कब? 
इस साल शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि के दिन ही जून की पूर्णिमा पड़ रही है। वहीं, 21 जून, शुक्रवार के दिन सुबह 07 बजकर 31 मिनट से पूर्णिमा तिथि की शुरुआत होगी, जो शनिवार, 22 जून के दिन सुबह 06 बजकर 37 मिनट तक रहने वाली है। उदयातिथि के अनुसार, ज्येष्ठ पूर्णिमा 22 जून को मान्य होगी और इसी दिन पूर्णिमा व्रत और दान-स्नान किया जाएगा। 

पूर्णिमा पूजा-विधि
ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन पूरे विधि-विधान से लक्ष्मी नारायण की साथ में पूजा करनी चाहिए। इस दिन विष्णु भगवान को पीले रंग के फल, फूल और वस्त्र चढ़ाने चाहिए और लक्ष्मी माता को गुलाबी या लाल रंग के फूल और श्रृंगार का सामान चढ़ाना चाहिए। वहीं, ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन सत्यनारायण की कथा पढ़ना पुण्यदायक माना जाता है। ज्येष्ठ पूर्णिमा तिथि के दिन ब्रह्म मुहूर्त में नदी में स्नान करने का विशेष महत्व माना जाता है। वहीं, अगर आप नदी में स्नान नहीं कर सकते तो नहाने के पानी में गंगाजल मिलाकर घर में ही स्नान करें। ज्येष्ठ पूर्णिमा का व्रत रखने और इस दिन लक्ष्मी नारायण की विधिवत पूजा करने से घर में सुख-संपत्ति और खुशहाली बनी रहती है।

पूर्णिमा शुभ मुहूर्त 
ब्रह्म मुहूर्त- 04:04 ए एम से 04:44 ए एम    
प्रातः सन्ध्या- 04:24 ए एम से 05:24 ए एम
अभिजित मुहूर्त- 11:55 ए एम से 12:51 पी एम    
विजय मुहूर्त- 02:43 पी एम से 03:39 पी एम
गोधूलि मुहूर्त- 07:21 पी एम से 07:41 पी एम    
सायाह्न सन्ध्या- 07:22 पी एम से 08:23 पी एम
अमृत काल- 11:37 ए एम से 01:11 पी एम    
निशिता मुहूर्त- 12:03 ए एम, जून 23 से 12:43 ए एम, जून 23

डिस्क्लेमर: इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। विस्तृत और अधिक जानकारी के लिए संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। 

ऐप पर पढ़ें