DA Image
23 फरवरी, 2020|7:21|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिथुन संक्रांति: इस तरह करें पूजा पाठ, घर में होगा लक्ष्मी का वास

sankranti

आज मिथुन संक्रांति मनाई जा रही है। साल में 12 संक्रांति होती हें। जिसमें सूर्य अलग-अलग राशि और नक्षत्र पर विराजमान होता है। मिथुन संक्रांति पर दान-दक्षिणा और पूजा-पाठ का विशेष महत्‍व होता है। यह संक्रांति इसलिए भी महत्‍वपूर्ण मानी जाती है क्‍योंकि इसके बाद से वर्षा ऋतु शुरु हो जाती है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार सूर्य के मिथुन राशि में जाने पर मेष, सिंह, कन्या और मकर राशि वालों को अच्छी सूचनाएं मिलेगी व पैसा मिलेगा।

ऐसे करें पूजा

इस दिन सिलबट्टे की भूदेवी के रूप में पूजा होती है। इसे दूध और पानी से स्‍नान कराया जाता है। इसके बाद चंदन, सिंदूर, फूल व हल्‍दी चढ़ाते हैं। पूजा के बाद पंडितों और गरीबों को दान किया जाता है। संक्रांति के दिन घर के पूर्वजों को श्रद्धांजलि भी दी जाती है। इस दिन विशेष रूप से पोड़ा-पीठा नाम की मिठाई बनाई जाती है। यह गुड़, नारियल, चावल के आटे व घी से बनती है। इस दिन चावल नहीं खाया जाता है।  
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:pujan vidhi on mithun sankranti