ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News AstrologyPalm Reading 5 lines on the hands are lucky will make you luck as bright as sun

Palm Reading: हाथों पर मौजूद 5 रेखाएं होती हैं लकी, सूर्य सा रौशन होता है भाग्य

Hastrekha: हस्तरेखा विद्या में ऐसी कई रेखाएं बताई गयी हैं, जिनकी मदद से व्यक्ति के आर्थिक जीवन और करियर लाइफ के बारे में जान सकते हैं। कुछ रेखाएं काफी लकी मानी जाती हैं, जो व्यक्ति का भाग चमका सकती है

Palm Reading: हाथों पर मौजूद 5 रेखाएं होती हैं लकी, सूर्य सा रौशन होता है भाग्य
Shrishti Chaubeyलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 31 Jan 2024 08:52 PM
ऐप पर पढ़ें

Palm Reading, Palmistry, Hastrekha: हर व्यक्ति के हाथों में अलग-अलग किस्म की रेखाएं पायी जाती हैं। कुछ रेखाएं अशुभ मानी जाती हैं तो कुछ का होना बेहद शुभ माना जाता है। हस्तरेखा शस्त्र में ऐसी कई रेखाएं बताई गयी हैं, जिनकी मदद से व्यक्ति के भाग्य, आर्थिक जीवन, करियर लाइफ और शादी-विवाह जैसे तमाम चीजों के बारें में जाना जा सकता है। इसलिए आइए जानते हैं ऐसी ही 5 रेखाएं, जो काफी लकी मानी जाती हैं-  

कुंभ राशि में सूर्य की एंट्री, इन राशियों को होगा महा लाभ

शुभ रेखाएं  

1- हथेली पर हृदय रेखा के ठीक सामने अगर त्रिशूल का चिन्ह मौजूद होना बेहद शुभ माना जाता है। 
सूर्य पर्वत अनामिका उंगली के ठीक नीचे पाया जाता है। सूर्य पर्वत की स्थिति अच्छे होने पर व्यक्ति को सूर्य का तेज प्राप्त होता है।  
2- सूर्य रेखा, गुरु पर्वत और सूर्य पर्वत की स्थिति अच्छे होने पर सरकारी नौकरी के साथ-साथ व्यक्ति को जीवन में खूब मान सम्मान भी मिलता है।  
3- वित्त रेखा आमतौर पर हथेली के बीचों-बीच पाई जाती है। यह रेखा हृदय रेखा और कलाई के बीच मौजूद होती है। अच्छी वित्त रेखा वाले व्यक्ति को जीवन में यश, वैभव और ऐश्वर्य का सुख मिलता है।  
4- जिस व्यक्ति की भाग्य रेखा जब शनि पर्वत तक जाती है और सूर्य रेखा गाढ़ी और स्पष्ट दिखती है वह भाग्यशाली माना जाता है।  
5- जब भाग्य रेखा गुरु पर्वत या चंद्र पर्वत से शुरू होती है और दिखने में लंबी, स्पष्ट और डार्क नजर आती है तो ऐसे व्यक्ति को सफलता हासिल करने में ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती है।      

डिस्क्लेमर: इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। विस्तृत और अधिक जानकारी के लिए संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।