DA Image
29 अक्तूबर, 2020|11:53|IST

अगली स्टोरी

Navratri 2020: अधिकतर ज्योतिषविदों के अनुसार आज है सप्तमी का व्रत, पढ़ें अष्टमी और नवमी की सही तारीख

Happy durga navami 2018 wishes images quotes whatsapp status and whatsapp dp Status and images

शारदीय नवरात्र मे श्रद्धालु श्रद्धा और भक्ति भाव के साथ व्रत रखकर मां जगदंबा के दिव्य स्वरूपों की भक्ति भाव से आराधना कर रहे हैं। इस बार  शुक्रवार को सप्तमी और शनिवार को अष्टमी  पूजन होगा।  कुछ लोगों में इस बार अष्टमी और नवमी की तिथियों को लेकर लोगों में भ्रम के हालात बन रहे हैं। अधिकांश पुजारी और ज्योतिष विधाओं का मत है कि सूर्योदिनी तिथि से ही नवरात्र का शुभारंभ हुआ है। ऐसे में अष्टमी शनिवार को ही होगी। जबकि शुक्रवार को सप्तमी मनाई जाएगी।

Dussehra 2020: दशहरे के दिन क्यों किया जाता है शस्त्र पूजन, जानिए पूजा का शुभ मुहर्त

विद्वान, पुजारी और ज्योतिषियों का मत है कि सूर्योदय के 24 मिनट बाद तक जो तिथि रहती है उसे ही सूर्योदिनी तिथि माना जाता है और इसे ही पूरे दिन प्रभावी मानते हैं। दूसरी ओर यज्ञ में वही तिथि मानी जाती है जो पूरे दिन प्रभावी हो।

 

 

ज्योतिषविद विभोर इन्दुसुत कहते हैं कि असल में 24 अक्टूबर शनिवार के दिन सुबह 6 बजकर 58 मिनट तक अष्टमी तिथि होने के कारण उदय तिथि तो अष्टमी रहेगी इसके बाद नवमी तिथि शुरू हो जाएगी जो 25 अक्टूबर की सुबह 7:41 तक उपस्थित रहेगी। ऐसे में अष्टमी का कन्या पूजन तो 24 अक्टूबर शनिवार को करना ही श्रेष्ठ होगा।

Guru parivartan 2020: दिवाली बाद देवगुरु बृहस्पति करेंगे राशि परिवर्तन, धन के मामले में बनेंगे अच्छे योग


ज्योतिषविद भारत ज्ञान भूषण कहते हैं कि सूर्योदिनी तिथि के अनुसार शनिवार को ही अष्टमी पूजन हितकर है। दूसरी ओर आचार्य महेश तिवारी कहते हैं कि निर्णयसिन्धु व श्रीमदभागवत के अनुसार कन्या पूजन से पहले यज्ञ किया जाता है। ऐसे में शुक्रवार को अष्टमी का कन्या पूजन किया जाना चाहिए। पंडित विनोद त्रिपाठी बताते है कि सुबह 6:59 तक अष्टमी समाप्त हो जाएगी ऐसे में शुक्रवार को ही अष्टमी पूजन के योग हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Navratri 2020: According to most astrologers know when is Sharidya Navratri Saptami Ashtami and navami date