DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   धर्म  ›  Navratri 2020: नवरात्रि पर इस बार दुर्लभ संयोग, 1962 में बना था ऐसा संयोग, आज सुबह 9:45 तक कर लें घट स्थापना

पंचांग-पुराणNavratri 2020: नवरात्रि पर इस बार दुर्लभ संयोग, 1962 में बना था ऐसा संयोग, आज सुबह 9:45 तक कर लें घट स्थापना

निज संवाददाता,प्रयागराज Published By: Anuradha Pandey
Sat, 17 Oct 2020 05:31 AM
Navratri 2020: नवरात्रि पर इस बार दुर्लभ संयोग, 1962 में बना था ऐसा संयोग, आज सुबह 9:45 तक कर लें घट स्थापना

आदिशक्ति मां दुर्गा की उपासना का पावन पर्व शारदीय नवरात्र शनिवार 17 अक्टूबर से शुरू हो गए हैं। इसके साथ ही मलमास का समापन हो जाएगा।  नवरात्र का शुभारंभ इस बार दुर्लभ संयोग के साथ होगा। इसलिए ग्रहीय दृष्टि से शारदीय नवरात्र शुभ और कल्याणकारी होगा। नवरात्र के दौरान नौ दिनों तक घरों, मन्दिरों में विधिविधान से पूजन अर्चन कर भक्त मां भगवती आशीष प्राप्त करेंगे। नवरात्र को लेकर मन्दिरों में सरकार की गाइड लाइन के अनुसार सिद्धपीठ ललिता देवी, कल्याणी देवी और अलोपशंकरी मंदिर में पूजन-अर्चन की तैयारी की गई है। 

Navratri 2020: नवरात्रि पर ये हैं कलश स्थापना के शुभ चौघड़िया और अभिजीत मुहूर्त समेत 3 शुभ मुहूर्त, शुभफल प्राप्ति के लिए लग्न में करें घटस्थापना

Navratri: 58 साल बाद बन रहा दुर्लभ संयोग
ज्योतिषाचार्य धर्मराज शास्त्री के अनुसार इस बार के शारदीय नवरात्र पर ग्रहीय आधार पर विशेष संयोग बन रहा है। यानी 17 अक्टूबर को 58 वर्षों के बाद शनि, मकर में और गुरु, धनु राशि में रहेंगे। इससे पहले यह योग वर्ष 1962 में बना था। यह संयोग नवरात्र पर्व को कल्याणकारी बनाएगा।

Navratri 2020: नवरात्रि में अखंड ज्योति प्रज्वलित करने के ये हैं नियम, मिलता है मां दुर्गा का आशीर्वाद

Navratri: घट स्थापना का शुभ मुहूर्त
ज्योतिषाचार्य अवध नारायण द्विवेदी के अनुसार प्रतिपदा तिथि शुक्रवार 16 अक्टूबर की रात 01:50 बजे से शुरू हो जाएगी, जो 17 अक्टूबर, शनिवार को रात 11:26 तक रहेगी। घट स्थापना का शुभ मुहूर्त सूर्योदय से सुबह 9:45 तक रहेगा।

Navratri 2020 : नवरात्रि पर ज्वारे बोने के पीछे का कारण जानते हैं आप? पढ़ें ज्वारे क्या देते हैं संकेत

Navratri:  अभिजित मुहूर्त
 अभिजित मुहूर्त 10:30 बजे से 12:20 बजे तक है। शेष दिन में किसी भी समय स्थापना पूजन किया जा सकता है।

 

संबंधित खबरें