Hindi Newsधर्म न्यूज़Mohini Ekadashi on May 19 note muhurat pooja vidhi katha paran time mantra upay

Mohini Ekadashi 2024: मोहिनी एकादशी 19 मई को, नोट करें मुहूर्त, पूजाविधि, कथा, मंत्र, उपाय

Mohini Ekadashi on May 19: आज कई शुभ योगों में मोहिनी एकादशी का व्रत रखा जाएगा। इस दिन पूरे विधि-विधान से भगवान विष्णु की आराधना करने से सुख-समृद्धि बढ़ती है और दुख दूर होते हैं।

Shrishti Chaubey लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीSun, 19 May 2024 10:42 AM
हमें फॉलो करें

Mohini Ekadashi 2024: इस बार मोहिनी एकादशी वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को मनाई जाएगी। साल भर की 24 एकादशियों में वैशाख शुक्ल पक्ष की मोहिनी एकादशी का विशेष महत्व माना गया है। कई शुभ योगों में 19 मई को व्रत रखा जाएगा। इस बार मोहिनी एकादशी पर सर्वार्थ सिद्धि, लक्ष्मी नारायण, शुक्र आदित्य योग पड़ने से भक्तों को भक्तों को विष्णु भगवान की विशेष कृपा प्राप्त होगी। इस दिन पूरे विधि-विधान से भगवान विष्णु की उपासना की जाएगी। मान्यताओं के अनुसार, मोहिनी एकादशी का व्रत रखने से जातक की सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो सकती हैं। आइए जानते हैं मोहिनी एकादशी का शुभ मुहूर्त, पूजा-विधि, उपाय, महत्व, मंत्र और व्रत पारण का समय-

मोहिनी एकादशी पूजा-विधि
स्नान आदि कर मंदिर की साफ सफाई करें
भगवान श्री हरि विष्णु का जलाभिषेक करें
प्रभु का पंचामृत सहित गंगाजल से अभिषेक करें
अब प्रभु को पीला चंदन और पीले पुष्प अर्पित करें
मंदिर में घी का दीपक प्रज्वलित करें
संभव हो तो व्रत रखें और व्रत लेने का संकल्प करें
मोहिनी एकादशी की व्रत कथा का पाठ करें
ॐ नमो भगवते वासुदेवाय मंत्र का जाप करें
पूरी श्रद्धा के साथ भगवान श्री हरि विष्णु और लक्ष्मी जी की आरती करें
प्रभु को तुलसी दल सहित भोग लगाएं
अंत में क्षमा प्रार्थना करें

मंत्र- ॐ नमो भगवते वासुदेवाय, ॐ विष्णवे नम:

मोहिनी एकादशी महत्व
ज्योतिषाचार्या राकेश शुक्ल ने बताया कि समुद्र मंथन के समय भगवान विष्णु द्वारा मोहिनी रूप धारण कर देवताओं को अमृत पान कराने की वजह से इस एकादशी को मोहिनी एकादशी नाम से जाना जाता है। उन्होंने बताया कि मोहिनी एकादशी का व्रत करने से मनुष्य के सभी पाप नष्ट हो जाते हैं।

मोहिनी एकादशी मुहूर्त
 ज्योतिष के अनुसार इस बार एकादशी तिथि 18 मई सुबह 11 बजकर 22 मिनट से शुरू होकर 19 मई दोपहर 1 बजकर 50 मिनट तक है। उदय तिथि होने के कारण 19 मई को मोहिनी एकादशी व्रत रखा जाएगा। व्रत पारण 20 मई, सुबह 5 बजकर 28 मिनट से लेकर सुबह 8 बजकर 12 मिनट तक करना शुभ होगा। पारण तिथि के दिन द्वादशी समाप्त होने का समय - 03:58 पी एम रहेगा। 

मोहिनी एकादशी उपाय
आचार्य आयर्दि आर्दश ने बताया कि इस दिन स्नान आदि कर भगवान विष्णु के मोहिनी स्वरूप तथा लक्ष्मी की विशेष पूजा अर्चना करनी चाहिए। विष्णु सहस्रनाम स्तोत्र का पाठ कर भगवान को तुलसी पत्र, फल, फूल, पीले वस्त्र, केसर का दूध आदि अर्पित करें। दूसरे दिन पारण से पूर्व भगवान विष्णु की पूजा कर ब्राह्मण को अन्न आदि का दान करें। मान्यता है कि ऐसा करने से मोह माया से छुटकारा तथा सभी पाप नष्ट हो जाते हैं।

ऐप पर पढ़ें