Hindi Newsधर्म न्यूज़Mesh Rashi Personality: Aries people are enthusiastic and stubborn know about their nature and personality

मेष राशि वाले होते हैं उत्साही और जिद्दी, जानिए इनके स्वभाव और व्यक्तित्व के बारे में क्या कहता है ज्योतिष शास्त्र

ज्योतिष शास्त्र में 12 राशियों का जिक्र किया गया है। हर किसी की 12 राशियों में से कोई एक राशि होती है। ज्योतिष शास्त्र में अग्नि तत्व राशियों का वर्णन किया गया है। ये राशियां मेष, सिंह और धनु हैं।...

Saumya Tiwari लाइव हिन्दुस्तान टीम, नई दिल्लीWed, 28 April 2021 09:40 AM
हमें फॉलो करें

ज्योतिष शास्त्र में 12 राशियों का जिक्र किया गया है। हर किसी की 12 राशियों में से कोई एक राशि होती है। ज्योतिष शास्त्र में अग्नि तत्व राशियों का वर्णन किया गया है। ये राशियां मेष, सिंह और धनु हैं। कहा जाता है कि इन राशियों को अंदर ऊर्जा व उत्साह बहुत होता है। इस राशियों के लिए सूर्य सबसे महत्वपूर्ण होता है। साहस और नेतृत्व के अलावा ये क्रोध की भी राशियां मानी जाती हैं।  कहा जाता है कि मेष राशि वालों में लीडरशिप क्वालिटी गजब की होती है। यह लोगों से निडरता के साथ मिलते हैं। जानिए मेष राशि के जातकों का स्वभाव व व्यक्तित्व-

जोखिम उठाने वाले-

मेष राशि के जातक उत्सुक, उत्साही और ऊर्जावान प्रकृति के होते हैं। यह किसी भी नए काम की शुरुआत से डरते नहीं हैं। मेष राशि वाले आमतौर पर साहसी व जोखिम उठाने वाले होते हैं। यह विपरीत परिस्थितियों का भी साहस के साथ सामना करते हैं। 

बहुमुखी प्रतिभा के धनी-

मेष राशि वाले जिंदादिल होते हैं। इनका ऊर्जा का स्तर हमेशा ऊंचा रहता है। आप इन्हें कभी भी थका हुआ नहीं पाएंगे। यह आसपास के लोगों को भी खुश रखने की कोशिश करते हैं। यह जीवन में प्रयोग करना खूब पसंद करते हैं। इसलिए इन्हें बहुमुखी प्रतिभा का धनी माना जाता है।

मेष राशि वालों की कमियां-

जिद्दी-

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, मेष राशि के जातक जिद्दी होते हैं। जिद्दी होना इनका सबसे बड़ा अवगुण होता है।

मेष राशि वाले कई बार ऐरोगेंट हो जाते हैं। इन्हें कई बार लगता है कि ये जो जानते या समझते हैं वहीं सही है। जिसके कारण कई बार ये एरोगेंट हो जाते हैं।

अनुशासन की कमी-

उत्साही और एक्टिव होने के बावजूद मेष राशि वालों में अनुशासन की कमी होती है। इनकी ऊर्जा कई दिशाओं में बिखरी होती है। जीवन में सफल होने के लिए ऊर्जा को एक दिशा में लगाना जरूरी होता है।

टकराव-

कई बार यह लोगों से बिना बात भिड़ जाते हैं। टकराव के कारण यह रिश्तों को कमजोर कर लेते हैं।

(इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।)

ऐप पर पढ़ें