DA Image
29 फरवरी, 2020|4:54|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Mauni Amavasya 2020: कालसर्प दोष से पाना चाहते हैं मुक्ति तो मौनी अमावस्या पर करें ये खास उपाय

mauni amavasya 2020

Mauni Amavasya 2020: हिंदू धर्म शास्त्रों में माघ मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या को मौनी अमावस्या या माघी अमावस्या कहा जाता है। इस साल मौनी अमावस्या 24 जनवरी 2020, शुक्रवार को मनाई जाएगी। मौनी अमावस्या के दिन मौन रखकर संयमपूर्वक व्रत करने का विधान बताया जाता है। 

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, इस दिन गंगा स्नान करने वाले व्यक्तियों को पाप से मुक्ति के साथ सभी दोषों से भी छुटकारा मिल जाता है। ऐसे में अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में कालसर्प दोष बना हुआ है तो वो इस शुभ दिन कुछ खास उपाय करके इसके प्रभाव को कम कर सकता है। तो आइए जानते हैं आखिर क्या हैं ये खास उपाय।   

मौनी अमावस्या का शुभ मुहूर्त-
अमावस्या तिथि प्रारम्भ- सुबह 2 बजकर 17 मिनट से (24 जनवरी 2020)
अमावस्या तिथि समाप्त- अगले दिन सुबह 3 बजकर 11 मिनट तक (25 जनवरी 2020)

कुंडली में कालसर्प दोष से मुक्ति पाने के लिए मौनी अमावस्या पर करें ये उपाय-
-मौनी अमावस्या के दिन स्नान करने के बाद लघु रूद्र का पाठ खुद करें। अगर आप खुद इस पाठ को नहीं कर पा रहे हैं तो इसका पाठ किसी योग्य  ब्राह्माण से भी करवा सकते हैं। 
-मौनी अमावस्या के दिन कालसर्प दोष से मुक्ति पाने के लिए नवनाग स्तोत्र का पाठ अवश्य करना चाहिए। इसके अलावा पाठ करने के बाद अपने सामर्थ्य के अनुसार किसी निर्धन व्यक्ति को भी दान अवश्य दें। 
- मौनी अमावस्या के दिन कालसर्प दोष से मुक्ति पाने के लिए तीसरा उपाय यह है कि इस दिन स्नान करने के बाद किसी भी शिव मंदिर में जाकर शिवलिंग पर तांबे से बने नाग-नागिन अवश्य चढाएं। 
-इसके अलावा मौनी अमावस्या के दिन कालसर्प दोष से मुक्ति पाने के लिए आप सफेद फूल, बताशे, कच्चा दूध, सफेद कपड़ा, चावल और मिठाई बहते हुए जल में प्रवाहित करते हुए शेषनाग से कालसर्प दोष से मुक्ति के लिए प्रार्थना करें। 

मौनी अमावस्या का महत्व-
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मौनी अमावस्या के दिन पितरों का तर्पण करने से पितरों को शांति मिलती है। मौनी अमावस्या पर किया गया दान-पुण्य का फल सतयुग के ताप के बराबर मिलता है। कहा जाता है कि इस दिन गंगा का जल अमृत की तरह हो जाता है। इस दिन प्रात: स्नान करने के बाद भगवान विष्णु और भगवान शिव की पूजा करनी चाहिये। श्री हरि को पाने का सुगम मार्ग है माघ मास में सूर्योदय से पूर्व किया गया स्नान। इसमें भी मौनी अमावस्या को किया गया गंगा स्नान अद्भुत पुण्य प्रदान करता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mauni Amavasya 2020:Maghi amavasya 24 january 2020 par paye kaal sarp dosh se mukti importance date time significance and shubh muhurt of snan on Maghi amavasya