DA Image
8 अप्रैल, 2020|10:43|IST

अगली स्टोरी

महाशिवरात्रि : ओंकारेश्वर में रात्रि में विश्राम करते हैं महादेव, उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

mahashivratri 2020

देश के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक मध्यप्रदेश के खंडवा जिले के ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग में आज महाशिवरात्रि पर्व पर लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। तड़के संत समाज के भगवान शिव के दर्शन और अभिषेक बाद आम श्रद्धालुओं के दर्शन का सिलसिला प्रारंभ हुआ।

दोपहर एक बजे तक यहां 60 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने दर्शन कर लिए और रात तक यह आंकड़ा एक लाख को पार करने का अनुमान है। इस महापर्व को देखते हुए यहां 36 घंटे तक श्रद्धालु भगवान के अनवरत दर्शन कर सकेंगे, इस दौरान सिर्फ आरती के लिए मात्र आधे घंटे के लिए ही दर्शन बंद होंगे। आम लोगो की सुविधा के लिए इस दौरान वीआईपी दर्शन को प्रतिबंधित भी कर दिया गया है।

ओंकारेश्वर में रात्रि विश्राम करते हैं शिव-पार्वती-
नर्मदा तट पर ओंकारेश्वर में महाशिवरात्रि का विशेष महत्त्व है। यहां के मुख्य पुजारी पंडित डंकेश्वर दीक्षित बताते हैं कि जिस तरह महाकालेश्वर में भस्मारती महत्त्व है, वैसे ही ओम्कारेश्वर में भगवान की शयन आरती महत्वपूर्ण मानी जाती है। इसके पीछे यह मान्यता है कि भगवान राम के पूर्वज राजा मान्धाता ने यहां तपस्या की, जिससे प्रसन्न होकर भगवान भोलेनाथ यहां स्वयं प्रकट हुए, जिनसे उन्होंने यह वरदान मांगा कि दिन में वे तीन लोक में चाहे जहां भ्रमण करे, लेकिन रात्रि विश्राम माता पार्वती के साथ ओमकारेश्वर में ही करें। इसे भगवान शिव ने स्वीकार किया और तबसे यहां शयन की आरती का महत्त्व है।

दूसरी बड़ी विशेषता यह भी है कि यहां भगवान भोलेनाथ स्वयंभू रूप प्रकट हुए, इसलिए यहां कोई स्थापित शिवलिंग भी नहीं है। महशिवरात्रि पर यहां लाखों की तादाद में श्रद्धालु दर्शन के लिए जुटते है, इसलिए यहां लगातार 36 घंटे दर्शन की व्यवस्था रखी गयी है, जिससे प्रत्येक श्रद्धालु दर्शन लाभ पा सके। आज शयन की आरती जो सामान्यत: रात्रि 9 बजे होती है, वह भी सुबह 3 बजे होगी। इधर मंदिर प्रशासन ने आम लोगो की सुविधा को देखते हुए पर्व के दौरान वीआईपी दर्शन सुविधा को बंद कर दिया है। इधर नर्मदा के घाट पर श्रद्धालुओं के स्नान के लिए प्रशासन ने व्यापक सुरक्षा प्रबंध किए हैं।

देश के अन्य प्रमुख शिव मंदिरों में भी श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी-

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mahashivratri: Mahadev rests at Omkareshwar at night crowds of devotees gathered to offer puja