Monday, January 17, 2022
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ धर्ममाघ मेला 2022: उदया तिथि में संक्रांति संग प्रदोष का संयोग 15 जनवरी को, जुटेगी संक्रांति की भीड़

माघ मेला 2022: उदया तिथि में संक्रांति संग प्रदोष का संयोग 15 जनवरी को, जुटेगी संक्रांति की भीड़

वरिष्ठ संवाददाता,प्रयागराजAlakha Singh
Fri, 14 Jan 2022 11:12 PM
माघ मेला 2022: उदया तिथि में संक्रांति संग प्रदोष का संयोग 15 जनवरी को, जुटेगी संक्रांति की भीड़

इस खबर को सुनें

परांपरागत तरीके से मकर संक्रांति मनाने वाले लोगों ने भले ही शुक्रवार को संगम में डुबकी लगाने के बाद दान कर पर्व की शुरुआत की हो, लेकिन शनिवार को संक्रांति और प्रदोष का संयोग है। ऐसे में शनिवार को मेला क्षेत्र में शुक्रवार की तुलना में अधिक भीड़ होने का अनुमान है।

पौष पूर्णिमा का स्नान 17 जनवरी को होगा। यही वह दिन है जब कल्पवास की शुरुआत होती है। सामान्य तौर पर दंडी संन्यासी, खाकचौक के संत और मिथिला के लोग संक्रांति से संक्रांति तक कल्पवास करते हैं, जबकि बड़ा वर्ग पूर्णिमा से पूर्णिमा तक कल्पवास करता है। पूर्णिमा से ठीक पहले आगमन का शुभ दिन देखा जाता है। क्योंकि पूर्णिमा से पहले प्रदोष हर साल पड़ता है, इसलिए सर्वाधिक कल्पवासी इसी दिन मेले में प्रवेश करते हैं।

इस बार प्रदोष और संक्रांति 15 जनवरी को पड़ रहे हैं। ऐसे में इसी दिन सर्वाधिक भीड़ होगी। मेले में स्नान के लिए लोग आएंगे और फिर संक्रांति के लिए भी आएंगे। श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती का कहना है कि उदयातिथि में संक्रांति शनिवार को है। जबकि तीर्थ पुरोहित राजेंद्र पालीवाल, प्रदीप पांडेय का कहना है कि शनिवार को प्रदोष भी है। पूस मास के शुल्क पक्ष में प्रदोष का खास महत्व होता है। सामान्य दिनों में भी इस दिन संगम स्नान के लिए श्रद्धालु अधिक आते हैं। संक्रांति का संयोग मिलने के कारण अधिक भीड़ होना तय है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें