ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ धर्मJanmashtami 2022 shubh muhurt:आज घर-घर जन्मेंगे कान्हा, इस समय होगा श्रीकृष्ण जन्म का महाभिषेक

Janmashtami 2022 shubh muhurt:आज घर-घर जन्मेंगे कान्हा, इस समय होगा श्रीकृष्ण जन्म का महाभिषेक

Janmashtami 2022 shubh muhurt: भगवान श्रीकृष्ण के 5249वां जन्ममहोत्सव शुक्रवार को मनाया जाएगा। ब्रज के कण-कण में उल्लास है। अपने गोपाल के जन्मोत्सव को मनाने के लिए हर कोई उत्साहित है।

Janmashtami 2022 shubh muhurt:आज घर-घर जन्मेंगे कान्हा, इस समय होगा श्रीकृष्ण जन्म का महाभिषेक
Anuradha Pandeyदिलीप चतुर्वेदी,मथुराFri, 19 Aug 2022 08:15 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

भगवान श्रीकृष्ण के 5249वां जन्ममहोत्सव शुक्रवार को मनाया जाएगा। ब्रज के कण-कण में उल्लास है। अपने गोपाल के जन्मोत्सव को मनाने के लिए हर कोई उत्साहित है। कन्हैया के जन्मोत्सव में शामिल होने देश-विदेश से लोग यहां पहुंच रहे हैं। शुक्रवार को कन्हैया का जन्मोत्सव मनाया जाएगा। श्री कृष्ण जन्मस्थान ही नहीं, सभी मंदिर और घर-घर में इसकी तैयारी हो चुकी हैं। मंदिरों और बाजारों को सजाया गया है। हजारों लोग ब्रज में पहुंच चुके हैं। अभी श्रद्धालुओं का आना जारी है। शुक्रवार की रात घर-घर लड्डू गोपाल जन्मेंगे और शंख, घंटे-घड़ियाल की ध्वनि से ब्रज गुंजायमान होगा। मुख्य आयोजन श्री कृष्ण जन्मस्थान के भागवत भवन पर होगा। जहां स्वर्ण मण्डित रजत कामधेनु स्वरूपा गो प्रतिमा ठाकुरजी का प्रथम अभिषेक करेंगी।

इसे भी पढ़ें: माखन मिश्री का भोग और बांसुरी की तान निराली, आओ मिलकर बनाएं जन्माष्टमी ये बांके बिहारी वाली, शेयर करें ऐसे ही शुभकामना संदेश

उच्च राशि के चंद्रमा में होगी कृष्ण जन्माष्टमी : दीपक ज्योतिष भागवत संस्थान के निदेशक ज्योतिषाचार्य कामेश्वर चतुर्वेदी का कहना है कि श्री कृष्ण जन्माष्टमी 19 अगस्त को उच्च राशि के चंद्रमा में मनाई जाएगी। साथ ही इस वर्ष श्री कृष्ण जन्माष्टमी को सूर्य और बुध साथ-साथ रहेंगे। बुधादित्य योग बनेगा। 19 अगस्त को मथुरा में चंद्रमा रात 11:44 बजे उदय होगा। कामेश्वर चतुर्वेदी ने बताया कि द्वापर युग में मथुरा पुरी में भाद्रपद मास कृष्ण पक्ष अष्टमी तिथि को मध्य रात्रि में 12:00 बजे निशीथ बेला में वृषभ लग्न में उच्च राशि के चंद्रमा में अजन्मे श्री कृष्ण ने जन्म लिया था।

● श्री गणपति एवं नवग्रह स्थापना-पूजन आदि रात्रि 11:00 बजे से

● सहस्त्रत्तर्चन (कमल पुष्प एवं तुलसीदल से) रात्रि 11:55 बजे तक

● प्राकट्य दर्शन हेतु पट बंद रात्रि 11:59 बजे

● प्राकट्य दर्शन/आरती रात्रि 12:00 बजे से 12:05 बजे तक

● पयोधर महाअभिषेक(कामधेनु) रात्रि 12:05 बजे से 12:20बजे तक

● रजत कमल पुष्प में विराजमान ठाकुरजी का जन्म-महाभिषेक रात्रि 12:20 बजे से 12:40बजे तक

● श्रंगार आरती रात्रि 12:40 बजे से 12:50 बजे तक

● शयन आरती रात्रि 1:25 बजे से 1:30 बजे तक

खास बातें

● ‘सारंग शोभा’ पुष्प-बंगले में विराजेंगे ठाकुरजी

● ‘मोर्छलासन’ में विराजमान हो अभिषेक स्थल पर पधारेंगे

● रजत-कमल पुष्प में होगा ठाकुरजी का प्राकट्य एवं अभिषेक

● गर्भ-गृह एवं श्रीकृष्ण चबूतरा को दिया जायेगा कारागार स्वरूप

● आयोजन में उपस्थित रहेंगे महंत नृत्यगोपालदास महाराज

● जन्माष्टमी पर रात्रि 1:30 बजे तक जन्मस्थान के खुले रहेंगे दर्शन

कड़ी सुरक्षा व्यवस्था : श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। आगरा के अलावा कानपुर और लखनऊ जोन का पुलिस फोर्स भी यहां लगाया गया है। इसके अलावा पीएसी, आरएएफ और एटीएस भी तैनात कर दी गई है। श्रीकृष्ण जन्मस्थान के आसपास के क्षेत्र को तीन जोन और 16 सेक्टर में बांटा गया है। सुरक्षा की दृष्टि से आने-जाने वाले मार्गों पर 70 बैरियर लगाये गए हैं।

epaper