DA Image
14 सितम्बर, 2020|11:36|IST

अगली स्टोरी

Krishna Janmashtami 2020: भगवान श्रीकृष्ण की पूजा करने से पहले जान लें ये जरूरी नियम

भाद्रपद में कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami 2020) का त्योहार मनाया जाता है। इस साल 12 अगस्त को जन्माष्टमी मनाई जा रही है। श्रीकृष्ण को भगवान विष्णु का आठवां अवतार माना जाता है। शास्त्रों के अनुसार, भगवान श्रीकृष्ण ने यह अवतार दुष्टों को धरती से मुक्त करवाने और लोगों में भक्ति-भाव जगाने के लिए लिया था।

जन्माष्टमी को देशभर में भगवान श्रीकृष्ण के जन्म दिवस के रुप में मनाते हैं। पूरे देश में इसे धूमधाम के साथ सेलिब्रेट किया जाता है। जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण की विधि-विधान से पूजा का विशेष महत्व है। हालांकि कई लोगों को जन्माष्टमी की पूजा से जुड़े नियमों की जानकारी नहीं होती है। ऐसे में हम आपको बता रहे हैं कि भगवान श्रीकृष्ण की पूजा से जुड़े कुछ नियम-

1. ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, पूजा में भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति के साथ गौ-माता की मूर्ति होना आवश्यक है। दरअसल भगवान कृष्ण को गायों से ज्यादा प्रेम था। इसलिए इस दिन गौमाता की पूजा का भी विशेष महत्व है।

2. कहा जाता है कि जन्माष्टमी की पूजा सुंदर और साफ आसन में बैठकर की जानी चाहिए। 

3. ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, भगवान श्रीकृष्ण की पूजा के दौरान आचमन जरूर करें और उन्हें फूलों की माला भी जरूर पहनानी चाहिए। माना जाता है कि ऐसा करने से भगवान कृष्ण प्रसन्न होते हैं।

4. कहते हैं कि पूजा से पहले भगवान श्रीकृष्ण को स्नान अवश्य कराना चाहिए। इसके बाद दूध, दही, घी, शहद और चीनी को एक साथ मिलाकर बना पंचामृत का भोग लगाएं। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, तुलसी के बिना भगवान को भोग नहीं लगाना  चाहिए।

5. जन्माष्टमी की पूजा में गाय के दूध से बने घी का इस्तेमाल करना शुभ माना जाता है। 

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Krishna Janmashtami 2020 Worship Rules of Krishna and Vrat