DA Image
30 मार्च, 2021|6:11|IST

अगली स्टोरी

जानिए कब से शुरू होगा खरमास, इस राशि में जाएंगे सूर्य

14 मार्च को शाम 6:04 पर सूर्यदेव मीन राशि में प्रवेश करेंगे और 14 अप्रैल प्रातः 2:33 तक मीन राशि में ही रहेंगे। इस अवधि को खरमास या मलमास कहते हैं। मलमास अथवा खरमास में विवाह कार्य, भूमि पूजन और गृह प्रवेश आदि वर्जित हैं। यदि सूर्य बृहस्पति की राशि मीन और धनु में आते हैं तब भी खरमास होता है। धनु राशि में सूर्य 15 दिसंबर से और 14 जनवरी तक रहते हैं। तब भी कोई शुभ कार्य नहीं होता है। यद्यपि दो महीने से गुरु और शुक्र अस्त होने से बीते दो माह से शुभ कार्य नहीं हो रहे हैं। मीन राशि में सूर्य का आगमन कई राशियों पर शुभ फल देगा और कुछ राशियों पर अशुभ जो इसका प्रकार रहेगा। 

यह भी पढेे़े: Mahashivratri 2021: इस तारीख को है महाशिवरात्रि, शिवरात्रि पर पढ़ें महामृत्युंजय मंत्र, जानें फायदे

मेष-मेष राशि में सूर्य 12 वें स्थान आ जाएंगे जो व्यक्ति को अधिक अपव्ययी बनाते हैं। मेष राशि वाले ध्यान रखें कि इस मास आय-व्यय का संतुलन बनाकर रखें क्योंकि खर्चों की वृद्धि होगी।
वृषभ- वृषभ राशि में 11 वे स्थान पर सूर्य उत्तम लाभ कराएंगे। 11 वां भाव मनोकामना का भी होता है इसलिए इस माह कोई मनोकामना अथवा इच्छा पूरी होने की भी संभावना है ।
मिथुन-मिथुन राशि वालों के लिए दशम भाव का सूर्य राजकीय कार्यों में  प्रतिष्ठा एवं यश दिलाता है। कोई लंबित कार्य पूर्ण होने की संभावना है। पिता का सम्मान करने से राजकीय कार्यों में सफलता मिलेगी।
कर्क-भाग्य भाव में सूर्य का आगमन आपके लिए बहुत शुभ है। भाग्य की वृद्धि होगी। धन के एकाधिक स्तोत्र बनेंगे और परिवार में मंगल कार्य होंगे।
सिंह-सिंह राशि वालों के लिए अष्टम भाव के सूर्य यद्यपि शुभ होते हैं, किंतु उनका दुष्प्रभाव यह है कि चोट,आकस्मिक बाधा, स्वास्थ्य की हानि कर सकते हैं अतः सावधान रहें। गायत्री मंत्र का जाप करें।

यह भी पढेे़े:  Budh Rashi Parivartan Mahashivratri 2021: 11 मार्च महाशिवरात्रि पर बुध कुंभ राशि में कर रहे हैं प्रवेश, जानें किस पर होगा प्रभाव

कन्या-कन्या राशि वालों के लिए यह माह बहुत उत्तम है। आर्थिक लाभ के लिए किए गए कार्य सफल होंगे, किंतु साझेदारी से बच कर रहना चाहिए। अपने उदर विकार पर ध्यान दें। पेट में पीड़ा हो सकती है। खानपान में सावधानी बरतें।
तुला-छठे भाव में सूर्य विरोधियों की संभावना को बढ़ाएगा। मातुल पक्ष को कष्ट होने की संभावना है किंतु धन लाभ होता रहेगा। छोटी यात्रा भी करेंगे।
वृश्चिक-पंचम स्थान का सूर्य यश देता है। आपके द्वारा किए गए कार्यों की सराहना आपके क्षेत्र में होती रहेगी। संतान की ओर से शुभ समाचार मिलेगा। धन और यश की वृद्धि होगी।
धनु-धनु राशि वालों के लिए चतुर्थ भाव का सूर्य संपत्ति आदि में विवाद दे सकता है। इसलिए स्वयं पर नियंत्रण रखें। बड़े निवेश या व्यापार अनुबन्ध से बचें। माता का सम्मान करें। धन आगमन होता रहेगा।

यह भी पढेे़े: Mahashivratri 2021: महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूजा में इन चीजों का नहीं करना चाहिए प्रयोग, आप भी जान लें

मकर-मकर राशि वालों के लिए मीन राशि का सूर्य तृतीय भाव में होने से भाइयों से विवाद की संभावना बढ़ेगी, किंतु पराक्रम बढ़ा चढ़ा रहेगा और क्षमताओं के अनुसार आपको लाभ होता रहेगा।
कुंभ-द्वितीय भाव में सूर्य का आगमन धन लाभ कराएगा। यद्यपि स्वास्थ्य संबंधी परेशानी भी हो सकती है, इसलिए खानपान पर उचित ध्यान दें। दिनचर्या ठीक करें। परिवार में मंगल कार्य होने की भी संभावना है।
मीन- अपने स्थान का और अपनी ही राशि का सूर्य आत्मबल बढ़ाएगा। धैर्य रखें। सारे कार्य इस माह पूर्ण होते नजर आएंगे किंतु क्रोध पर नियंत्रण रखें और लंबी यात्रा का विचार त्याग दें। 
(ये जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।) 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Know when Kharmas will start Sun will go in this zodiac