ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ धर्मजानें नवरात्रि में हल्दी और नारियल का चमत्कारी प्रभाव, मिट जाएंगे सभी दुख और समस्या

जानें नवरात्रि में हल्दी और नारियल का चमत्कारी प्रभाव, मिट जाएंगे सभी दुख और समस्या

नवरात्रि के दूसरे दिन मां दुर्गा के द्वितीय रूप देवी ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती है। शास्त्रों के अनुसार आज मां ब्रह्मचारिणी की पूजा करने से सर्वसिद्धि की प्राप्ति होती है।

जानें नवरात्रि में हल्दी और नारियल का चमत्कारी प्रभाव, मिट जाएंगे सभी दुख और समस्या
Archana Pathakलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीWed, 28 Sep 2022 12:56 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

शारदीय नवरात्र का आज दूसरा दिन है नवरात्रि के दूसरे दिन मां दुर्गा के द्वितीय रूप देवी ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती है। शास्त्रों के अनुसार आज मां ब्रह्मचारिणी की पूजा करने से सर्वसिद्धि की प्राप्ति होती है। नवरात्र में हर मनोकामना की पूर्ति के लिए बहुत से लोग 9 दिनों तक निर्जला उपवास करते हैं।

आज हम नवरात्र से जुड़े कुछ ऐसे उपाय के बारे में बताएंगे जिसे अपनाकर आप जीवन में खुशहाली और तरक्की पा सकते हैं।

सुपारी - शास्त्रों के अनुसार पूजन साम्रगी में  सुपारी को बेहद शुभ माना गया है। ऐसा माना जाता है कि सुपारी में सभी देवी देवताओं का वास होता है। सुपारी के ऊपर सिंगुर लगाकर पीले कपड़े में बांधकर माता को चढ़ाने से शादी का जल्द लग्न बनने की संभावना है। 

लॉन्ग- नवरात्र के समय अपनी हर मनोकामना को पूरा करने के लिए माता को लॉन्ग की बनी माला जरूर चढ़ाएं। 

पान - शास्त्रों के अनुसार देवताओं ने समुद्र मंथन के समय पान के पत्ते का प्रयोग किया था। जिसके बाद से देवी देवताओं को नमन करने के लिए  पान के पत्ते का प्रयोग किया जाता है। नवरात्र में 27 पान के पत्ते को काले धागे में बांधकर माता को चढ़ाने से जल्द नौकरी लगने की संभावना है।

हल्दी -  हल्दी को पूजा के लिए बेहद पवित्र माना गया है। शास्त्रों के अनुसार हल्दी को लाल वस्त्र में बांधकर पैसों की तिजोरी में रखने से धन का लाभ हो सकता है।

नारियल - नवरात्र के समय माता को नारियल चढ़ाने से ग्रहों की बुरी दशा ठीक हो जाती है। मां दुर्गा को नारियल चढ़ाने से पहले उनकी जांच जरूर कर लें।

इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। विस्तृत और अधिक जानकारी के लिए संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

epaper