DA Image
7 मई, 2021|1:26|IST

अगली स्टोरी

जानिए ग्रह और कोरोना की चाल का कनेक्शन

सन 2021 में पांच अप्रैल से बृहस्पति कुंभ राशि में आए हैं। ग्रहों का विश्लेषण बताता है कि सन 2021 और 2022 में भी सर्वत्र असाध्य बीमारी, अशांति एवं अराजकता का तांडव होगा। कोरोना वायरस से जन-धन हानि में बढ़ोतरी होगी। हालांकि वैक्सीन आ गई है, लेकिन ग्रह दशा जन-धन हानि का संकेत दे रही है। वर्ष प्रवेश लग्न में वर्ष के प्रवेश लग्न में वृषभ राशि में मंगल राहु का विचरण पूरे विश्व में अराजकता फैलाने वाला है। 12 अप्रैल 2021 प्रातः 8:00 से वर्ष प्रवेश हुआ है। कर्म भाव (दशम स्थान) में कुंभ का बृहस्पति छठे  स्थान को देख रहा है। कुंडली में छठा स्थान बीमारी का होता है।

यह भी पढ़ें: इन राशियों पर शनिदेव रहते हैं मेहरबान, जानिए क्या आप भी हैं इस लिस्ट में शामिल

तुला राशि अपनी शत्रु राशि को दृष्टिपात करके बृहस्पति कोरोना महामारी की भयावहता को  बढ़ा रहे हैं। उपरोक्त विवरण के अनुसार एक बात साफ है कि दुनियाभर में कोरोना वायरस दो साल तक जनता को परेशान करता रहेगा। नववर्ष 2078 का राजा और मंत्री मंगल हैं। मंगल अपने स्वभाव के अनुसार जनता और नेताओं में आक्रामकता का भाव भरेंगे। लोगों का धैर्य साथ नहीं देगा। अराजकता का भाव बढ़ने से देश में जन-धन हानि होगी। मंगल की भयावहता से जगह-जगह अग्निकांड भी होते रहेंगे। इससे भी जनधन की हानि होने के संकेत मिल रहे हैं। 
(ये जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।) 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Know the connection between the movement of planet and corona