DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्री बाबा झारखंडी महादेव मंदिर में अभिषेक से पूरी होती है मुरादें

केसरगंज में नगर निगम परिसर स्थित श्री बाबा झारखंडी महादेव मंदिर अपनी पौराणिकता के लिए जाना जाता है। मंदिर के पीछे बनी साधुओं की समाधियां कौतुहल पैदा करती हैं। मंदिर की व्यवस्था देखने वाली आशा शर्मा बताती हैं कि उनकी 18 पीढ़ियां मंदिर से जुड़ी रही हैं। उनके पूर्वज बाबा शेरनाथ ने जीवित रहते हुए जनकल्याण के लिए समाधि ली थी। मंदिर में नाथ संन्यासी रहते थे।

शिवरात्रि पर चारों प्रहर पूजन 
प्रधान पुजारी आचार्य गोपाल शर्मा बताते हैं कि वर्षो पूर्व मंदिर स्थल पर विशाल झाड़ियां थीं। यहीं पर प्राकृतिक शिवलिंग तथा पीपल का वृक्ष था, जिसके अभिषेक को श्रद्धालु आते थे। झाड़ियों के कारण ही मंदिर का नाम झाड़खंडी महादेव मंदिर पड़ा, जिसे झारखंडी महादेव मंदिर भी कहा जाता है। करीब दो सौ साल पुराने मंदिर का जीर्णोद्धार 1976 में हुआ। मान्यता है कि निरंतर 40 दिन तक अभिषेक व दीपक जलाने से मन्नत पूरी होती है। आचार्य गोपाल शर्मा कहते हैं कि मंदिर में दिखाए गए अधिकतर रिश्ते परिणय सूत्र में बंध जाते हैं। दूर-दूर से श्रद्धालु दीपक जलाने व रिश्ते करने आते हैं। दुर्गा जी की 18 भुजी प्रतिमा, शिव परिवार, हनुमान जी, राधा-कृष्ण की भव्य मूर्तियां आलौकिक छटा बिखेरती हैं। सावन मास में शिवमहापुराण की बरसों पुरानी परंपरा आज भी जीवंत है। शिवरात्रि पर चारों प्रहर पूजन व अभिषेक होता है।

 
1. अब पिछले साल से मंदिर को भव्य स्वरूप दिया जा रहा है। मंदिर के प्रांगण में पिलर लगाए जा रहे हैं। इन्हें केमिकल से मजबूत कर ऊपर लिंटर डाला जाएगा। महादेव के विभिन्न ज्योतिर्लिंग के दर्शनों के साथ ही देव लीलाओं के चित्रों को उकेरा जाएगा। निर्माण कार्य बेहद तेजी से चल रहा है। अब श्रावण मास में श्रद्धालुओं की भीड़ के कारण इसे फिलहाल रोका गया है।
 
2. मंदिर में भगवान शिव का शिवलिंग में वास है। कहते हैं सच्चे मन से मांगी गई मन्नत को भगवान शिव अवश्य पूरा करते हैं। श्रावण मास में मंदिर में भक्ति की धारा बहती है। मां दुर्गा की 18 भुजी प्रतिमा, शिव परिवार, हनुमान जी, राधा-कृष्ण की भव्य मूर्तियां आलौकिक छटा बिखेरती हैं। सावन मास में शिवमहापुराण की बरसों पुरानी परंपरा आज भी जीवंत है। शिवरात्रि पर चारों प्रहर पूजन व अभिषेक होता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:know about Jharkhandi Mahadev Temple
Astro Buddy