DA Image
29 अक्तूबर, 2020|12:47|IST

अगली स्टोरी

Karwachauth 2020 Date : यह है करवाचौथ व्रत की पूजा और कथा पढ़ने का शुभ मुहूर्त

karva chauth

कार्तिक कृष्ण पक्ष में नवरात्रि और शरद पूर्णिमा के बाद आने वालों में व्रतों में करवा चौथ और अहोई अष्टमी का व्रत प्रमुख व्रत हैं।  करवा चौथ के व्रत महिलाओं के लिए बहुत खास होता है। इस दिन महिलाएं अपनी पति लंबी आयु के लिए पूरे दिन निर्जला व्रत रखती है। इस दिन पौराणिक रीति रिवाज के साथ उपवास जाता है। कहीं-कहीं इस दिन सुबह सर्योदय से पहले सरगी खाने की भी परंपरा है। सरगी सुबह सवेरे खा ली जाती है। इसके बाद व्रत की कथा पढ़ी जाती है और शाम को चंद्रमा को अर्घ्य देकर व्रत खोला जाता है।

ज्योतिर्विद पं दिवाकर त्रिपाठी पूर्वांचली ने बताया की कार्तिक कृष्ण पक्ष चतुर्थी तिथि को पड़ने वाला संकष्ठी श्री गणेश करक चतुर्थी व्रत ,जिसे करवा चौथ व्रत भी कहा जाता है। इस वर्ष 4 नवम्बर 2020 दिन बुधवार को होगा। पति की दीर्घायुष्य, यश-कीर्ति और सौभाग्य वृद्धि के निम्मित किया जाने वाला यह कठीन एवं प्रसिद्ध व्रत 4 नवंबर दिन बुधवार को रहेंगी।

काशी में या आसपास में चंद्रोदय समय रात में लगभग 7:57 बजे होगा । इसके बाद नंगी  आंखों से चंद्रमा दिखाई पड़ने पर अर्घ्य देकर परम्परागत तरीके से इस व्रत पर्व को मनाया जाता है। 4 नवंबर को शाम 05 बजकर 34 मिनट से शाम 06 बजकर 52 मिनट तक करवा चौथ की पूजा का शुभ मुहूर्त है।

 karwa chauth 2020 subh muhurt
चंद्रोदय : रात 7:57 बजे होगा
शाम 05 बजकर 34 मिनट से शाम 06 बजकर 52 मिनट तक

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Karwachauth 2020 Date: Karva chauth puja shubh muhurat and time of vrat katha of Karwa chauth 2020