DA Image
1 जनवरी, 2021|11:30|IST

अगली स्टोरी

Karwa Chauth 2020 : देशभर में चांद के दर्शन के साथ पूरा हुआ करवा चौथ का व्रत, दिल्ली में देर से आया नजर

karwa chauth

पति की लंबी उम्र के लिए सुहागिनों का करवा चौथ का व्रत चांद दिखते ही पूरा हो गया। बात करें, चांद के दर्शन की तो यूपी, बिहार, झारखंड, उत्तराखंड, राजस्थान, पंजाब समेत देश में अधिकांश जगहों पर करवा चौथ का चांद जल्दी नजर आ गया, जबकि दिल्ली में बादल छाए रहने की वजह से चांद ने सुहागिनों के साथ लुका-छुपी का खेल खेला और बहुत देर से दर्शन दिए। बहुत इंतजार करने के बाद आखिरकार दिल्ली में चांद नजर आया और चांद के दर्शन करने व्रती महिलाओं ने चंद्रमा को अर्घ्य देकर अपना व्रत पूरा किया।

 

 

पौराणिक मान्यता के अनुसार आज करवाचौथ का व्रत अमृत सिद्धि योग एवं शिव योग में मनाया गया। ज्योतिषाचार्य पं शिवकुमार शर्मा के अनुसार आज मृगशिरा नक्षत्र होने से अमृत सिद्धि योग के साथ करवा चौथ का व्रत पूरा हुआ। इस दिन 28 योगों में शिव योग था। शिव का अर्थ होता है कल्याणकारी। ऐसे योग में करवाचौथ का व्रत सौभाग्यवती महिलाओं के पति की दीर्घायु देने वाला होता है।

 

100 सालों के बाद संयोग
ज्योतिषियों के अनुसार इस बार करवा चौथ के दिन 4 राजयोगों के साथ करीब आधा-दर्जन शुभ योग बन रहे हैं। आज के दिन शिव योग, अमृत योग और सर्वार्थसिद्धि योग बन रहे हैं। इतना ही नहीं आज, शंख, गजकेसरी, हंस और दीर्घायु राजयोग भी बन रहे हैं. ऐसा महा संयोग करीब 100 सालों बाद बना है।

 

karwa chauth

 

क्यों होते हैं चंद्र दर्शन
चंद्रमा को मन का कारक माना गया है। चंद्रमा आयु, यश और समृद्धि का भी प्रतीक है। हिंदू मान्यताओं के अनुसार, चंद्रमा को भगवान ब्रह्मा का रूप माना जाता है और चांद को लंबी आयु का वरदान मिला हुआ है। चांद में सुंदरता, शीतलता, प्रेम, प्रसिद्धि और लंबी आयु जैसे गुण पाए जाते हैं, इसीलिए सभी महिलाएं चांद को देखकर ये कामना करती हैं कि ये सभी गुण उनके पति में आ जाएं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Karwa Chauth 2020 Updates karva-chauth-moon-rise-time-today-chand-timings in delhi up bihar jharkhand and rajasthan