DA Image
21 जनवरी, 2021|1:21|IST

अगली स्टोरी

Karwa Chauth 2020: करवा चौथ पर राशि के हिसाब से वस्त्र या साड़ी पहनकर पूजा करना होता है शुभ, जानिए शुभ मुहूर्त

करवा चौथ व्रत हर साल कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को होता है। इस साल यह 4 नवंबर को पड़ रहा है। इस दिन सुहागिनें अपने पति की लंबी आयु की कामना करते हुए निर्जला व्रत रखती हैं। शाम को पूजा और चंद्रमा को अर्घ्य देकर व्रत खोला जाता है। करवा चौथ के दिन व्रती स्त्रियां सोलह श्रृंगार करती हैं। इस दिन लाल रंग के वस्त्र या साड़ी पहनना शुभ माना जाता है। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, करवा चौथ पर व्रती स्त्रियों के राशि के हिसाब से भी वस्त्र धारण कर पूजन करने से उन्हें शुभ फल की प्राप्ति होती है। हम आपको बता रहे राशि के हिसाब से शुभ रंग और पूजा का मुहूर्त-

मेष- गहरा लाल रंग 
वृष- पीला रंग
मिथुन- हरा रंग
कर्क - गुलाबी रंग
सिंह- लाल रंग
कन्या - हरी धारियों वाला वस्त्र या साड़ी
तुला - सफेद कढ़ाई वाली गुलाबी अथवा पीली साड़ी 
वृश्चिक - प्लेन साड़ी
धनु - हल्के पीले रंग के आउटफिट
मकर - कथई रंग का वस्त्र
कुम्भ - मैरून रंग 
मीन - पीली साड़ी या आउटफिट

करवा चौथ के दिन व्रती महिलाओं को पढ़नी चाहिए विशेष कथा, पढ़ें व्रत से जुड़ी ये मान्यताएं

करवा चौथ पूजा का शुभ मुहूर्त-

संध्या पूजा का शुभ मुहूर्त 4 नवंबर (बुधवार)- शाम 05 बजकर 34 मिनट से शाम 06 बजकर 52 मिनट तक। कहा जा रहा है कि चंद्रोदय शाम 7 बजकर 57 मिनट पर होगा।

पहली बार रख रही हैं करवा चौथ, तो जानें यहां सोलह श्रंगार के बारे में

करवा चौथ व्रत में प्रयोग होने वाली सामग्री लिस्ट-

चंदन, शहद, अगरबत्ती, पुष्प,  कच्चा दूध, शक्कर,  शुद्ध घी, दही, मिठाई, गंगाजल, अक्षत (चावल), सिंदूर, मेहंदी, महावर, कंघा, बिंदी, चुनरी, चूड़ी,  बिछुआ, मिट्टी का टोंटीदार करवा व ढक्कन,  दीपक, रुई, कपूर, गेहूं, शक्कर का बूरा, हल्दी, जल का लोटा, गौरी बनाने के लिए पीली मिट्टी, लकड़ी का आसन, चलनी, आठ पूरियों की अठावरी, हलुआ और दक्षिणा (दान) के लिए पैसे आदि।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Karwa Chauth 2020 This karva chauth Wear Saree or outfit according to zodiac sign Know here Puja Subh Muhurat