DA Image
24 जनवरी, 2021|11:47|IST

अगली स्टोरी

सर्वार्थसिद्धि योग में करवा चौथ, सोलह कलाओं में बुधवार को शाम 8:16 बजे दिखेगा चंद्रमा

karva chauth muhurat

बुधवार को करवा चौथ के मौके पर चंद्रमा 16 कलाओं में पूर्ण होकर अखंड सौभाग्य का वर देंगे। ज्योतिषविदों के अनुसार इस बार उच्च राशि का चन्द्रमा और सर्वार्थ सिद्धि योग सुहागिनों को सौभाग्य देगा। पति की दीर्घायु के लिए महिलाएं निर्जल व्रत रख अखंड सौभाग्य की कामना करेंगी। चंद्र दर्शन रात्रि 8.16 बजे होगा और अर्घ्य के बाद व्रत का पारण होगा।

कर्क चतुर्थी या करवा चौथ का व्रत परम सौभाग्य देने वाला बताया गया है। इस दिन सुहागिन स्त्रियां निर्जला व्रत रखकर अपने पति की दीर्घायु, सफलता तथा वैवाहिक जीवन के मंगल की कामना करती हैं। इस दिन सुहागिन महिलाएं भगवान श्री गणेश और चंद्रमा की उपासना करें तो पति दीर्घायु और रोगों से दूर रहता है। चन्द्रमा और गणेश जी का पूजन मनोकामना पूर्ति के योग बनता है। इस दिन चंद्रमा अपनी पूर्ण 16 कलाओं में होंगे और मनोकामना पूरी करने का आशीष देंगे।

सर्वार्थसिद्धि का बन रहा योग
इस बार करवा चौथ पर विशेष संयोग है। बुधवार को पूरे दिन चन्द्रमा अपनी उच्च राशि (वृष) में रहेगा और ज्योतिषीय दृष्टि से ये चन्द्रमा की सबसे ज्यादा मजबूत और शुभ स्थिति होती है। इसलिए उच्च राशि के चन्द्रमा के साथ साथ इस बार करवा चौथ के दिन सर्वार्थ सिद्धि योग भी उपस्थित रहेगा जो सभी मनोकामनाओं की पूर्ती करने वाला माना जाता है।

करवा चौथ को चांद कब निकलेगा ? देखें इस सप्ताह 9 नवंबर तक का चांद निकलने का टाइम

करवा चौथ पूजा मुहूर्त
पूजा समय शाम - शाम 6:04 से रात 7:19

उपवास समय सुबह - शाम 6:40 से रात 8:52
चौथ तिथि - सुबह 3:24 से 5 नवंबर सुबह 5:14 तक

चंद्रमा का उदय - 4 नवंबर रात 8.16 से 8:52 तक

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Karva Chauth in Sarvarthasiddhi Yoga moon will be seen in sixteen arts at 8:16 pm on Wednesday