ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News AstrologyKamada Ekadashi date time puja vidhi shubh muhrat vrat parana time pujan samagri list

Kamada Ekadashi 2024 : आज या कल, कामदा एकादशी कब है? नोट कर लें सही डेट, शुभ मुहूर्त, पूजा-विधि, व्रत पारण टाइम और पूजन सामग्री की पूरी लिस्ट

Kamada Ekadashi Date Time Puja Vidhi : हिंदू धर्म में एकादशी तिथि का विशेष महत्व माना जाता है। वर्षभर में 24 एकादशी मनाई जाती हैं, जिनमें से प्रत्येक का अपना-अलग फल और महत्व होता है।

Kamada Ekadashi 2024 : आज या कल, कामदा एकादशी कब है? नोट कर लें सही डेट, शुभ मुहूर्त, पूजा-विधि, व्रत पारण टाइम और पूजन सामग्री की पूरी लिस्ट
Yogesh Joshiलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीFri, 19 Apr 2024 08:45 AM
ऐप पर पढ़ें

Kamada Ekadashi : चैत्र शुक्ल की एकादशी व्रत भगवान विष्णु को समर्पित है। इस दिन पूजा करने से भगवान विष्णु का विशेष आशीर्वाद प्राप्त होता है। कामदा एकादशी को चैत्र शुक्ल एकादशी भी कहते हैं। हिंदू धर्म में एकादशी तिथि का विशेष महत्व माना जाता है। वर्षभर में 24 एकादशी मनाई जाती हैं, जिनमें से प्रत्येक का अपना-अलग फल और महत्व होता है। कामदा एकादशी के दिन श्रद्धालु भगवान विष्णु की पूजा करेंगे। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार एकादशी तिथि भगवान विष्णु को प्रिय होती है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। इस दिन व्रत रखने का भी बहुत अधिक महत्व होता है।

कामदा एकादशी व्रत की सही डेट- इस साल 19 अप्रैल, 2024, शुक्रवार को कामदा एकादशी का व्रत किया जाएगा। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन भगवान वासुदेव का पूजन किया जाता है। इस व्रत को करने से सभी कामनाओं की पूर्ति हो जाती है और पापों का नाश होता है। 

मुहूर्त- 

  • एकादशी तिथि प्रारम्भ - अप्रैल 18, 2024 को 05:31 पी एम बजे
  • एकादशी तिथि समाप्त - अप्रैल 19, 2024 को 08:04 पी एम बजे
  • व्रत पारण टाइम- 20 अप्रैल को 06:02 ए एम से 08:35 ए एम तक
  • पारण तिथि के दिन द्वादशी समाप्त होने का समय - 10:41 पी एम

अंकराशि 19 अप्रैल : मूलांक 1, 5, 6 वालों की चमकेगी किस्मत, मिलेगा भाग्य का पूरा साथ, हर कार्य में मिलेगी सफलता

कामदा एकादशी व्रत पूजा-विधि

  • इस दिन सबसे पहले सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त होकर स्वच्छ वस्त्र धारण करें।
  • मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।
  • मंदिर में देवी- देवताओं को स्नान कराने के बाद साफ स्वच्छ वस्त्र पहनाएं।
  • अगर आप व्रत कर सकते हैं तो व्रत का संकल्प लें।
  • भगवान विष्णु का ध्यान करें।
  • भगवान विष्णु के साथ माता लक्ष्मी की पूजा भी करें। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं।
  • भगवान विष्णु को भोग लगाएं। भगवान विष्णु के भोग में तुलसी को जरूर शामिल करें। इस बात का ध्यान रखें कि भगवान को सिर्फ सात्विक चीजों का ही भोग लगाया जाता है।

Rashifal : 19 अप्रैल को इन राशियों का चमकेगा भाग्य, मां लक्ष्मी रहेंगी मेहरबान, पढ़ें मेष से लेकर मीन राशि तक का हाल

एकादशी व्रत पूजा सामग्री लिस्ट

  • श्री विष्णु जी का चित्र अथवा मूर्ति
  • पुष्प
  • नारियल 
  • सुपारी
  • फल
  • लौंग
  • धूप
  • दीप
  • घी 
  • पंचामृत 
  • अक्षत
  • तुलसी दल
  • चंदन 
  • मिष्ठान

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें