DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Kalashtami 2019: कालाष्टमी के दिन जरूर करें ये उपाय, काल भैरव होंगे प्रसन्न

bhairav

कालाष्टमी का दिन भगवान भैरव का दिन माना जाता है। हर महीने की कृष्ण पक्ष अष्टमी को कालभैरव की पूजा की जाती है। इस माह यह व्रत 26 अप्रैल को है। कालभैरव भगवान शंकर का रूप माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन जो व्यक्ति कुछ विशेष उपाय करता है उसे जरूर उसका फल मिलता है।

कालाष्टमी व्रत 2019: क्यों किया जाता है ये व्रत, पढ़ें मान्यता और पूजा विधि

आइए जानते हैं कुछ उपाय

कालाष्टमी की रात को उड़द के आटे की मीठी रोटी बनाएं उस रोटी पर तेल लगाएं और किसी कुत्ते को खिला दें। इस दिन काले कुत्ते को खिलाना ज्यादा शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि इससे कालभैरव बहुत खुश हो जाते हैं।

कालाष्टमी की रात को आप काल भैरव को सवा सौ ग्राम साबुत काली उड़द चढ़ाएं। इसके बाद 11 दाने अलग रख लें और ये दाने अपने कार्यस्थल पर रख लें। इससे काम में उन्नति मिलेगी।

वास्तु शास्त्र: इन बातों का रखें ध्यान, वरना नहीं मिलेगा मनी प्लांट का लाभ

कालाष्टमी की रात साबुत उड़त दाल, लाल फूल, लाल मिठाई शाम के समय भगवान कालभैरव को चढ़ा दें। इसके बाद इसे परिवारवालों के बीच बांट दें। इससे परिवार में क्लेश नहीं होगा और लक्ष्मी का वास होगा।

ऐसे भैरव मंदिर में जाएं जिसमें कम ही लोग जाते हो। रविवार की सुबह सिंदूर, तेल, नारियल, पुए और जलेबी लेकर वहां जाएं। भैरव नाथ का पूजन करें। इसके बाद 5 से 7 साल तक के लड़कों को चने-चिरौंजी, तेल, नारियल, पुए और जलेबी का उन्हें प्रसाद दें। ध्यान रखें अपूज्य भैरव नाथ की पूजा करने से भैरव नाथ अत्ति प्रसन्न होते हैं।

(इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं तथा इन्हें अपनाने से अपेक्षित परिणाम मिलेगा। जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kalashtami Vrat 2019: must do these things on this day kaal bhairav will happy