ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News AstrologyKaal Bhairav is the form of Lord Shiva take these remedies today your luck will change

Kala Bhairav: शिव जी का रूप हैं काल भैरव, काल भैरव जयंती पर करें ये उपाय, बढ़ेगी सुख-समृद्धि

Kala Bhairav Jayanti: मान्यता है मार्गशीर्ष महीने के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि के दिन ही भगवान काल भैरव का अवतरण हुआ था, जिन्हें काशी के कोतवाल के नाम से भी जाना जाता है।

Kala Bhairav: शिव जी का रूप हैं काल भैरव, काल भैरव जयंती पर करें ये उपाय, बढ़ेगी सुख-समृद्धि
Shrishti Chaubeyलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 05 Dec 2023 01:58 PM
ऐप पर पढ़ें

Kaal Bhairav Jayanti 2023, Kalashtami Upay: कालभैरव जयंती या काल भैरव अष्टमी मंगलवार, 5 दिसंबर को मनाई जाएगी। इस दिन शिव के पांचवें रुद्र अवतार माने जाने वाले काल भैरव की पूजा-अर्चना पूरे विधि-विधान से की जाती है। पूजन के लिए सुबह 10.53 से दोपहर 1.29 बजे और रात 11.44 से 12.37 बजे तक का समय श्रेष्ठ होगा। मान्यता है मार्गशीर्ष, कृष्ण पक्ष की अष्टमी के दिन काल भैरव की उपासना करने से दुख, दर्द, डर, रोग आदि समाप्त हो जाते हैं। वहीं, आज काल भैरव जयंती पर कुछ उपाय करने से काल भैरव को प्रसन्न कर भोलेनाथ की असीम कृपा प्राप्त की जा सकती है। 

Kalashtami: कालभैरव जयंती आज, इस शुभ मुहूर्त और विधि से करें पूजा, दूर होंगे कष्ट

ज्योतिषाचार्य एसएस नागपाल ने बताया कि काल भैरव की पूजा से शनि, राहु, केतु ग्रह भी शांत हो जाते हैं। बुरे प्रभाव और शत्रुओं से छुटकारा मिलता है। मनोकामनाएं पूरी होती हैं। उन्होंने बताया कि तंत्र साधना के देवता काल भैरव की पूजा रात में की जाती है। यह दिन तंत्र साधना के लिए उपयुक्त माना गया है। काल भैरव को दंड देने वाला देवता भी कहा जाता है। इस दिन शिव-पार्वती की पूजा करने से भी उनकी विशेष कृपा प्राप्त होती है।

शनि की उल्टी चाल में 2024 की शुरुआत, इन राशियों का पलटेगा भाग्य

काल भैरव को प्रसन्न करने के उपाय 
काल भैरव का वाहन कुत्ता माना गया है। इसलिए आज के दिन कुत्ते को भोजन करना फलदायक रहेगा। वहीं, काल भैरव जयंती पर भगवान शिव की विधिवत आराधना की जाती है। इस दिन शिव जी का रुद्राभिषेक करना पुण्यदायक माना जाता है। भगवान काल भैरव को प्रसन्न करने के लिए उड़द, इमरती, नारियल, पान और जैसी चीजें अर्पित की जा सकती हैं।

डिस्क्लेमर: इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। विस्तृत और अधिक जानकारी के लिए संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।