DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Janmashtami 2019: राशि के मुताबिक लगाएं श्रीकृष्ण को भोग, पढ़ें पूरी डिटेल

bhadrapada krishna janmashtami

जन्माष्टमी व्रत को करने से पूर्व जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं। विवाह और संतान संबंधित परेशानी दूर होती है। इन मंत्रों का पाठ करने से संतान व विवाह संबंधी बाधा दूर होती है। संतान के इच्छुक दंपती को इस मंत्र का जप अष्टमी तिथि से प्रारंभ करना चाहिए-‘ऊं नमो भगवते जगदात्म सूतये नम:।।' विवाह नहीं होने पर इस मंत्र का जप इसी दिन से शुरू करना चाहिए- ‘ऊं कात्यायनी महामाये महायोगिनिधीश्वरी नन्दगोप सुतं देहि पति में कुरुते नम:।'.

अपनी राशि के अनुसार लगाएं भोग
चंद्रमा को मन कारक कहा गया है और ज्योतिष में चंद्रमा से ही पूर्ण परमातांश प्राप्त कर श्रीकृष्ण का जन्म कहा गया है। इसलिए अपनी चंद्रराशि के अनुसार उनकी आराधना करेंगे, तो विशेष लाभ होगा।.

- यदि आपकी राशि मेष या वृश्चिक है, तो आप भगवान श्रीकृष्ण को जन्माष्टमी के दिन अनार व सेव तथा पकवान का भोग लगाएं। 

- यदि आपकी राशि वृष या तुला हो, तो केला एवं मक्खन आदि का भोग लगाएं। 

- यदि आपकी राशि मिथुन या कन्या हो, तो हरे फल, जैसे नाशपाती और पेड़े आदि का भोग लगाएं।

Janmashtami 2019: जानें क्या है पूजा विधि और कैसे करें व्रत

- यदि आपकी राशि कर्क हो, तो केला एवं मक्खन, दूध आदि का भोग लगाएं। 

- यदि आपकी राशि सिंह हो, अनार व सेव तथा शुद्ध घी के पकवान का भोग लगाएं। 

- यदि आपकी राशि धनु या मीन हो, तो रसदार फल (अनन्नास, अंगूर आदि) और पीले पकवान का भोग लगाएं। 

Janmashtami 2019: जन्माष्टमी पर बन रहा है ये संयोग, लड्डू गोपाल को प्रसन्न करने के लिए करें ये काम

- यदि आपकी राशि मकर या कुंभ हो तो सूखे मेवे और उड़द से बने पकवान का भोग लगाएं।

भगवान श्रीकृष्ण गोपालक थे, इसलिए उन्हें दूध से बने सभी पदार्थ विशेष प्रिय हैं। जिनको अपनी राशि का ज्ञान न हो, वे दूध से बने पदार्थ अर्पित करें। सभी मनोकामना पूरी होंगी।    

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Janmashtami 2019 : shri krishna bhog should according to rashi know everything about kishan Janmashtami
Astro Buddy