DA Image
19 नवंबर, 2020|8:45|IST

अगली स्टोरी

परेशान हैं तो ये गुंजा और सरसों से ये उपाय करके देखिए

प्रकृति में इतनी आयुर्वेदिक औषधियां और ऐसी दुर्लभ वस्तुएं विराजमान हैं जिनका उपयोग हम मानव जीवन के कल्याण के लिए कर सकते हैं और अनेक कष्टों से मुक्ति पा सकते हैं। आज हम बात करते हैं गुंजा, राई, पीली सरसों और काली हल्दी के लाभकारी प्रयोग के बारे में।

गुंजा: गुंजा को आयुर्वेद में घुंघची या रत्ती भी कहते हैं। गुंजा तीन प्रकार की होती है। लाल गुंजा, सफेद गुंजा और काली गुंजा। लाल गुंजा ग्रामीण अंचलों में झाड़ी वाले स्थान पर  पायी जाती हैं। इसकी छोटी-छोटी पत्ती वाली बेल होती है और आसानी से मिल जाती है। गांवों में इसे चोंटली बोलते हैं।  लाल गुंजा के बहुत से लाभकारी उपयोग भी हैं। 
 यदि किसी व्यक्ति, बालक या संस्थान को बुरी नजर लग जाती है, तो पांच गुंजा या 11 गुंजा लेकर उनके ऊपर से पांच बार उल्टा उतारें और बाहर किसी अंगारी या कपूर पर जला दें। तीन दिन लगातार शाम के समय करें। बुरी से बुरी नजर भी उतर जाएगी। 

यह भी पढ़ें: Chhath Puja: नहाय-खाय के साथ आज से शुरू होगा 4 दिवसीय छठ महापर्व, सूर्य सहित इन ग्रहों का सुंदर संयोग

सफेद गुंजा: सफेद गुंजा लोभिया के दानों की तरह सफेद होते हैं। इनका उपयोग ज्योतिष के उपाय और वास्तु के उपाय में होता है। यदि आपके घर का उत्तरी भाग दूषित है। धन आता है,चला जाता है,बरकत नहीं होती तो आप 10 ग्राम सफेद गुंजा लेकर सफेद कपड़े में बांधकर उत्तर की दीवार पर टांग दें या किसी कांच की कटोरी में रख दें अथवा अपने घर की छत पर किसी बड़े गमले में सफेद गुंजा को उगा सकते हैं। इससे लक्ष्मी कुबेर आकर्षित होते हैं और घर में धन वृद्धि होती है। घर में परस्पर शांति के लिए, कलह और मनमुटाव को दूर करने के लिए किसी कांच की कटोरी में 25 ग्राम सफेद गुंजा रखें और ’या देवी सर्वभूतेषु शांति रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।’ इस मंत्र से सिद्ध करें और अपने घर के दक्षिण पूर्व दिशा के कोने में रख दें। सफेद गुंजा लक्ष्मी का आकर्षण करती है। 

यह भी पढ़ें- Guru Rashi parivartan 2020: जानें 20 नवंबर को गुरु के मकर राशि में जाने से किन राशियों को होगा लाभ


राई और पीली सरसों: राई और सरसों हमारी रसोई की शान है और मसालों में प्रयोग होते हैं। यदि आपको रात में सपने अच्छे नहीं आते  हैं, डर लगता है, कभी ऐसा लगता है कि कोई व्यक्ति या कोई वस्तु आपका गला दबा रही है, हाथ, पैर, वाणी निस्तेज हो गए हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए अभिमंत्रित किए हुए राई और पीली सरसों के दाने रात्रि को लेकर अपने बिस्तर के चारों डाल दें और सदैव कुछ दाने अपनी जेब में रखें। इसके बाद आपको ऐसे सपने नहीं आएंगे और ना ही डर लगेगा। कभी-कभी छोटा बच्चा नींद में चौंकता है। उसके  लिए भी यही उपाय करें तो लाभ मिलता है। 

काली हल्दी:  यदि घर के पश्चिम क्षेत्र में कोई वास्तु समस्या है या कोई वास्तु दोष है तो उस क्षेत्र में 21 काली हल्दी गांठ किसी कांच के कटोरे में रखें और नित्य प्रति वहां पर धूप जलाएं। पश्चिम दिशा का वास्तु संतुलन ठीक हो जाएगा।
 (इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं तथा इन्हें अपनाने से अपेक्षित परिणाम मिलेगा। जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:If you are upset try these remedies with Gunja and mustard