DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अगर जीवन रेखा है लंबी तो बीमार होंगे कम

मनी लाइन्स हस्तरेखा

हस्तरेखा विज्ञान में हाथों की लकीरों से भाग्य के बारे में काफी जानकारी हासिल की जा सकती है। हस्तरेखा के अनुसार हाथ में मुख्य तौर पर तीन रेखाएं होती हैं। इनमें जीवन रेखा, मस्तिष्क रेखा और हृदय रेखा। जीवन रेखा के छोटे होने, दो होने या टूटी हुई होने के अलग-अलग मायने होते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कि  जीवन रेखा से जुड़ी हुई कुछ बातें। 

जीवन रेखा का जिंदगी में प्रभाव 
जीवन रेखा अंगूठे के नीचे गुरु पर्वत से शुरू होती है। पतली, लंबी और गहरी जीवन रेखा अच्छी मानी जाती है। कहा जाता है कि जिस व्यक्ति के हाथ में यह रेखा लंबी होती है उसकी उम्र भी लंबी होती है। खास बात यह है कि इस रेखा के लंबे होने पर व्यक्ति को सेहत संबंधी परेशानी कम होती हैं। अगर जीवन रेखा के आसपास छोटी-छोटी और रेखाएं हों और वो उसे काट रही हों तो कहा जाता है कि जिदंगी में कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अगर हथेली में मस्तिष्क रेखा और जीवन रेखा लगभग एक ही जगह से शुरू हो रही हों और दोनों के बीच थोड़ा अंतर हो तो कहा जाता है कि ऐसा इंसान खुले विचारों वाला होता है। हस्तरेखा विशेषज्ञों के अनुसार कहा जाता है कि अगर जीवन रेखा एक हाथ में सही और एक हाथ में टूटी हुई हो तो ऐसे इंसान को जिंदगी में बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। 

अधिक उभरा है अंगूठे का पोर तो कामुक होगा व्यक्ति
अंगूठे का तीसरा पोर शुक्र पर्वत का स्थान माना जाता है। यदि यह पोर अच्छी तरह उभरने के 
साथ ही गुलाबी रंगत में है तो इसका मतलब है ऐसे लोग प्यार में है। जिन लोगों का पोर अधिक उभरा हुआ होता है, वे कामुक होते हैं। हालांकि अगर ऐसे मौके पर उसकी लाइफ में कोई परेशानी भी आती है तो वह उन्हें झेल लेता है।

खुद मार्गदर्शन करते लंबे अंगूठे वाले लोग 
जिन लोगों के अंगूठे का पहला पोर लम्बा होता है, वे लोग आत्मविश्वास से भरे होते हैं। वे अपना मार्गदर्शन खुद करने के साथ ही काफी जागरुक रहते हैं। हालांकि हथेली से जुड़ा यह पोर कुछ ज्यादा ही लंबा है तो इसका मतलब है कि यह व्यक्ति कुछ अलग होगा। जिन लोगों का पहला पोर छोटा होता है वे लोग दूसरों पर निर्भर रहते हैं। वे हर काम दूसरों की सलाह से ही करते हैं। जिन लोगों का पहला पोर चौड़ाई में बना होता है वे जिद्दी होते हैं। इतना ही नहीं जिनके पहले पोर की बनावट समकोण में है वे बेहद शातिर होने के साथ ही काफी चालाक भी होते हैं। यदि अंगूठे का दूसरा भाग लम्बाई में बना हो तो इसका मतलब है कि ये लोग काफी चालाक होंगे। ऐसे लोग सामाजिक कार्यों में सक्रिय  रहते हैं। वे मिलनसार होते हैं। जिन लोगों के अंगूठे का ये दूसरा पोर छोटा होता है, वे दिमाग से ज्यादा नहीं सोचते। इससे उन्हें कई बार धोखा और नुकसान मिलता है। जिन लोगों के अंगूठे का पोर थोड़ा अंदर की ओर दबा होता है वे काफी तेज होते हैं। वे हर बात को गंभीरता से लेते हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:If Life Line Palm is long then you will fall ill very less
Astro Buddy