DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Holi 2019: भद्रा में नहीं किया जाता होलिका दहन, होलिका दहन के दिन करें ये उपाय

पूर्णिमा तिथि पर होलिका दहन किया जाता है। भद्रा योग में उत्सव मनाना शुभ नहीं है। भद्रा के स्वामी शनि और राहू हैं, जो शुभ फल नहीं देते। आपको बता दें कि होलिका दहन के दिन भद्रा शाम 6.25 से रात 8.07 बजे तक है इसलिए होलिका दहन इसके बाद ही किया जाएगा। होली के अगले दिन दुल्हंडी मनाई जाएगी। दोनों दिन क्रमश: पूर्वा फागुनी और उत्तरा फागुनी नक्षत्र पड़ रहे हैं।  ज्योतिषियों  के अनुसार काला तिल, पांच लौंग, गोमतीचक्र, होलिका में अर्पित करने से लाभ होगा। यहां हम आपको बता रहे हैं ऐसे ही उपाय जिन्हें होलिका दहन के दिन करने से लाभ होगा।

नींबू, गोमतीचक्र, पांच लौंग होलिका में डालें।

काला तिल, पांच लौंग, गोमतीचक्र, होलिका में डालें।

पांच हल्दी, पांच गोमतीचक्र कृष्ण मंदिर में चढ़ाएं।

पीले रंग का इस्तेमाल करने पर फायदा मिलेगा।

हल्दी छिड़क कर स्नान करने से स्वास्थ्य लाभ होगा।

भगवान विष्णु पर पीला गुलाब, हल्दी, ईत्र मिलाकर चढ़ाएं।

इस दिन भगवान शिव ने किया था कामदेव को भस्म, नहीं करना चाहिए शुभ कार्य

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Holika dahan is not done in Bhadra do these upaay on holi