DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

होली पर ये उपाय बचाएंगे राहु-शनि के दुष्प्रभाव से, दिलाएंगे मनोवांछित फल

रंगों का पर्व होली इस बार चैत कृष्ण प्रतिपदा 21 मार्च को धूमधाम से मनाई जाएगी। होलिका दहन 20 मार्च को किया जाएगा। इस दौरान होलिका का पूजन करके पान, फल और मिष्ठान चढ़ाएं और दूसरे दिन होलिका भस्म लेकर धारण करें। ऐसा करने से आप राहु-शनि के दुष्प्रभाव से बच सकेंगे और आपकी बाधाएं दूर होंगी। 

पंडित शक्तिधर त्रिपाठी के अनुसार होली प्रत्येक संवत्सर का अंतिम त्योहार होता है जो फाल्गुन मास की पूर्णिमा को होलिका दहन से शुरू होता है और चैत्र मास की प्रतिपदा को रंगोत्सव के साथ पूर्ण होता है। 

इस वर्ष की होली 21 मार्च गुरुवार को सूर्योदय से ही प्रारंभ हो जाएगी जबकि होलिका दहन 20 मार्च बुधवार को रात्रि 8:12 के बाद किया जाएगा। होली पर करीब 10 घंटे भद्रा है। होली पर पूजन के समय उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र का साक्षी रहेगा। इस कारण भद्रा का दोष नहीं माना जाएगा।
  
ये उपाय दिलाएंगे मनोवांछित फल 

1.  राहु शनि के दुष्प्रभाव से बचने के लिए होली की भस्म शरीर पर मल कर स्नान करें ।

2. किसी व्यक्ति के कराए हुए अनिष्ट से बचना चाहते हैं तो खड़ा नमक, लाल मिर्च और राई अपने ऊपर से उतार कर होलिका में डाल दें। मन ही मन उस व्यक्ति का नाम लेते रहे जिससे बचना चाहते हैं।

3.होली के दिन भगवान श्री विष्णु के पूजन का अनंत गुना फलदायी होता है ।

4. शिव जी को भस्म चढ़ाने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है।

5. होली के दिन आम्र की मंजरी खाने और श्वपच स्पर्श का विशेष महत्व होता है।

HOLI 2019: यह है होलिका दहन का शुभ मुहूर्त और पूरा विधि-विधान

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:holi 2019 upay to fight shani rahu effects