DA Image
31 मार्च, 2020|3:26|IST

अगली स्टोरी

Happy Maha Shivratri 2020: महाशिवरात्रि पर ये मैसेज, SMS, फोटो भेजकर करें विश

happy maha shivratri 2020

Happy Maha Shivaratri 2020 Wishes, messages, SMS, Photos: आज भोले शंकर की आराधना का महापर्व यानी महाशिवरात्रि है। हर मंदिर में देवों के देव भगवान शिव की पूजा के लिए भक्‍तों की भारी भीड़ जुटे गई है। हर हर महादेव के जयकारे लग रहे हैं। महाशिवरात्रि पर ब्रह़म मुहूर्त में ही मंदिर के कपाट खुल गए हैं। जलाभिषेक का सिलसिला शुरू हो गया है। शिवरात्रि पर भगवान शिव की पूजा करने से हर भक्त की मनोकामना पूर्ण होती है। महाशिवरात्रि पर पूरे दिन ऊं नम: शिवाय का जाप मन ही मन करते रहें। शिवरात्रि पर बेलपत्र, धतूरा, बेर अर्पित करने भगवान की कृपा मिलती है। महाशिवरात्रि पर हर जगह शिवालयों समेत अन्य मंदिरों में यज्ञ, अनुष्ठान, सहस्त्रघट, अभिषेक आदि होंगे। अपने दोस्तों और करीबियों को भेजें महाशिवरात्रि की शुभकामनाएं

happy maha shivratri 2020   share images wishes lord shiv quotes photos sms whatsapp messages pooja

शिवरात्रि की पूजा विधि-
- शिव रात्रि के दिन सबसे पहले सुबह स्नान करके भगवान शंकर को पंचामृत से स्नान करवाएं। 
- उसके बाद भगवान शंकर को केसर के 8 लोटे जल चढ़ाएं।
- इस दिन पूरी रात दीपक जलाकर रखें। 

happy maha shivratri 2020   share images wishes lord shiv quotes photos sms whatsapp messages pooja
- भगवान शंकर को चंदन का तिलक लगाएं।
- तीन बेलपत्र, भांग धतूर, तुलसी, जायफल, कमल गट्टे, फल, मिष्ठान, मीठा पान, इत्र व दक्षिणा चढ़ाएं। सबसे बाद में केसर युक्त खीर का भोग लगा कर प्रसाद बांटें।
 - पूजा में सभी उपचार चढ़ाते हुए ॐ नमो भगवते रूद्राय, ॐ नमः शिवाय रूद्राय् शम्भवाय् भवानीपतये नमो नमः मंत्र का जाप करें।

happy maha shivratri 2020   share images wishes lord shiv quotes photos sms whatsapp messages pooja

117 साल बाद दुर्लभ योग
इस बार महाशिवरात्रि पर 117 साल बाद दुर्लभ योग बन रहा है। शुक्रवार को महाशिवरात्रि पर्व मनाया जाएगा। उस दिन शनि अपनी राशि मकर व शुक्र उच्च राशि मीन में रहेंगे। भगवान शिव की अराधना से गुरु, शुक्र और शनि के दोषों से मुक्ति मिलेगी। शुक्रवार को ही बुध व सूर्य एक साथ कुंभ राशि में होंगे। इससे बुधादित्य योग बन रहा है। बीते 18 फरवरी से पांच मार्च तक कालसर्प योग है। यह समय कालसर्प योग से निवारण के लिए महत्वपूर्ण है। मीनाबाजार शिव मंदिर के पुजारी आचार्य सुजीत कुमार द्विवेदी ने बताया कि इस दिन रूद्राभिषेक करने से पातन कर्म भस्म हो जाते हैं। साधक में शिवत्व का उदय होता है। इससे मनोकामनाएं पूरी होती हैं। एक मात्र सदाशिव रूद्र के पूजन से सभी देवी-देवताओं की पूजा हो जाती है। 

happy maha shivratri 2020   share images wishes lord shiv quotes photos sms whatsapp messages pooja

क्या है रूद्राभिषेक
रूद्राभिषेक का अर्थ है भगवान रूद्र का अभिषेक अर्थात शिवलिंग पर मंत्रों के द्वारा अभिषेक करना। यह पवित्र-स्नान रूद्ररूप शिव को कराया जाता है। अभिषेक के कई रूप व प्रकार होते हैं। शिव जी को प्रसन्न करने का सबसे अच्छा तरीका है रुद्राभिषेक करना। जटा में गंगा को धारण करने से भगवान शिव को जलधारा प्रिय है। 

happy maha shivratri 2020   share images wishes lord shiv quotes photos sms whatsapp messages pooja

शुभ मूहुर्त
भोलेबाबा को प्रसन्न करने के लिए किस शुभ मुहूर्त में पूजा करना फलदायक है। 
पंडित विवेक गैरोला ने बताया कि महा शिवरात्रि पर शुक्रवार शाम 6:18 बजे प्रथम प्रहर की पूजा शुरू होगी, द्वितीय प्रहर की पूजा रात्रि 9:29 बजे से, तृतीय प्रहर की पूजा मध्यरात्रि 12:40 बजे से, चतुर्थ प्रहर की पूजा प्रातः 3:53 बजे से शनिवार 22 फरवरी 2020 के सूर्य उदयकाल 7:03 बजे तक रहेगा। इस दौरान भगवान शिव की आराधना से विशेष लाभ मिलेगा।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Happy Maha Shivratri 2020 : share Mahashivratri Images Wishes Lord Shiv Quotes photos sms Whatsapp Messages pics pooja vidhi shiv mantra