ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News AstrologyGemstone to get rid of shani dosh benefits of wearing amethyst crystal

Lucky Stone :शनि दोष से मुक्ति पाने के लिए धारण करें एमेथिस्ट क्रिस्टल, हर कष्ट होंगे दूर

Saturn Lucky Gemstone Amethyst : रत्न शास्त्र के अनुसार, कुंडली में शनि दोषों के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए नीलम के अलावा जमुनिया (एमेथिस्ट क्रिस्टल) को धारण करना बेहद लाभकारी माना गया है।

Lucky Stone :शनि दोष से मुक्ति पाने के लिए धारण करें एमेथिस्ट क्रिस्टल, हर कष्ट होंगे दूर
Arti Tripathiलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 11 Jun 2024 02:18 PM
ऐप पर पढ़ें

Auspicious Gemstone : रत्न शास्त्र में शनि के अशुभ प्रभावों से राहत पाने के लिए नीलम रत्न धारण करना बेहद लाभकारी माना गया है। मान्यता है नीलम पहनने से कुंडली में शनि दोष से मुक्ति मिलती है और शनिदेव का नकारात्मक प्रभाव धीरे-धीरे कम होने लगता है। लेकिन कई बार ज्यादा कीमत के कारण नीलम पहनना संभव नहीं होता है। ऐसे में आप नीलम का एक उपरत्न जमुनिया(एमेथिस्ट क्रिस्टल) पहनने से भी शनि के अशुभ प्रभावों को कम किया जा सकता है। जमुनिया पर्पल रंग का एक क्रिस्टल होता है। कहा जाता है ज्योतिषीय सलाह लेकर एमेथिस्ट क्रिस्ट पहनने से जीवन के सभी दुख और कष्टों से छुटकारा मिलता है और व्यक्ति पर शनिदेव की कृपा बनी रहती है। आइए जानते हैं जमुनिया धारण करने के नियम और फायदे...

एमेथिस्ट क्रिस्टल पहनने के नियम :

रत्न शास्त्र के अनुसार, ज्योतिषीय सलाह से शनिवार के दिन यह रत्न धारण करना चाहिए।

एमेथिस्ट  क्रिस्टल की रिंग पहनने से पहले इससे गंगाजल में डुबोकर अभिमंत्रित कर लें।

शनिवार के दिन श्रद्धापूर्वक शनिदेव की पूजा-आराधना करें। 

शनिदेव के बीज मंत्र ऊँ शं शनैश्चराय नमः का 108 बार जाप करें।

इसके बाद दाएं हाथ की मध्यमा उंगली में जमुनिया रत्न की अंगूठी धारण कर लें।

एमेथिस्ट क्रिस्टल के फायदे :

रत्न शास्त्र के मुताबिक, धन की तंगी से छुटकारा पाने के लिए एमेथिस्ट पहनना लाभकारी माना गया है। मान्यता है कि इस व्यापार से जुड़ी दिक्कतें भी दूर होती हैं। 

नौकरी-कारोबार में तरक्की के लिए भी जमुनिया रत्न लाभकारी माना गया है। कहा जाता है कि इससे करियर की बाधाएं दूर होती हैं।

मान्यता है कि एमेथिस्ट रत्न पहने से शनि की साढ़ेसाती, ढैय्या और अशुभ प्रभावों को कम किया जा सकता है।

डिस्क्लेमर: इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य है और सटीक है। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।