DA Image
8 मई, 2021|6:56|IST

अगली स्टोरी

पहली बार महाकुंभ लाई जाएगी गंगोत्री की पवित्र छड़ी, शंकराचार्य की पेशवाई में किया जाएगा शामिल

कुंभ के इतिहास में पहली बार गंगोत्री धाम की पवित्र छड़ी को महाकुंभ के दौरान हरिद्वार लाया जाएगा। यह छड़ी हरिद्वार में 8 अप्रैल को होने वाले ज्योतिष पीठ एवं द्वारका शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती की पेशवाई का हिस्सा होगी। छड़ी के साथ-साथ चार धाम- बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के तीर्थ पुरोहित 

भी इस कार्यक्रम का हिस्सा होंगे। शंकराचार्य की पेशवाई में हजारों लोग शामिल होंगे। 

महंत प्रेमानंद गिरी ने कहा, 'शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती की पेशवाई को लेकर सभी लोग काफी उत्साहित हैं और इस कार्यक्रम का सबको बेसब्री से इंतजार है। और अब जब मां गंगा की छड़ी  भी इस उत्सव का हिस्सा बनने जा रही है, ऐसे में श्रद्धालु इस पल को देखने के लिए बेहद उत्सुक हैं।' 

गंगोत्री मंदिर कमिटी के अध्यक्ष सुरेश सेमवाल ने कहा कि सात अप्रैल को मां गंगा के शीतकालीन प्रवास मुखबा से तीर्थ पुरोहितों की अगुवाई में मां गंगा की छड़ी यात्रा भूपतवाला पहुंचेगी। शाम तक यह हरिद्वार पहुंच जाएगी। 

स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा, 'पेशवई और कुंभ का कार्यक्रम पिछले कुंभ की तरह भव्य होगा। कोविड-19 गाइडलाइंस का पूरा पालन किया जाएगा।'

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Gangotri shrine holy mace to be brought to Mahakumbh for first time