अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Ramzan 2018: जानिए रमजान के पाक महीने से जुड़ी 5 बातें

रमजान (सांकेतिक तस्वीर)

इस्लामी कैलेंडर के नौंवे महीने को पाक माना जाता है और इसी महीने को रमज़ान भी कहा जाता है। दुनियाभर में इस साल 17 मई को रमज़ान की शुरुआत होग गई। इस महीने को हिजरी भी कहा जाता है, जो कि पूरे 30 दिन का होता है। माना जाता है कि इस महीने में कुरान पढ़ने से ज्यादा सबाब मिलता है। आइए रमज़ान के पाक महीने से जुड़ी 5 बातें जानते हैं।

Ramzan 2018: शुरू हो रहा है पाक महीना रमजान, इस दिन से रखे जाएंगे रोजे

1. इस बार रमजान में 5 जुमे पडेंगे। रमज़ान का आखिरी जुमा 15 जून को होगा, जिसे अलविदा जुमा कहा जाता है.।

2. रमज़ान को तीन भागों में बांटा जाता है। 10 दिन के पहले भाग को रहमतों का दौर बताया गया है। दूसरे 10 दिन के भाग को माफी का दौर कहा जाता है और आखिरी 10 दिन के भाग को जहन्नुम के बचाने का दौर बोला जाता है।

3. रमज़ान में रखे जाने वाले रोज़े को इस्लाम के पांच स्तंभों में से एक माना जाता है। इन दिनों ताक्वा प्राप्त किया जाता है। ताक्वा का अर्थ है अल्लाह को नापसंद काम ना कर उनकी पसंद के कार्यों को करना।

4. इस महीने में शब-ए-कद्र मनाई जाती है, जो कि इस बार 11 जून को हो सकती है। इस दिन मुस्लिम समुदाय रात भर जागकर इबादत करते हैं।

5. महीने के बाद शव्वाल की पहली तारीख को ईद उल फितर मनाया जाता है। इस महीने दान पुण्य के कार्यों करने को प्रधानता दी जाती है। इसलिए इस महीने को नेकियों और इबादतों का महीना कहा जाता है।

रमजान 2018: इस महीने में डिहाइड्रेशन से ऐसे बचें

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:five things you should know about ramzan 2018