DA Image
15 नवंबर, 2020|12:07|IST

अगली स्टोरी

Diwali Puja time and vidhi: शुरू होने वाला है दिवाली का स्थिर लग्न, इसमें पूजा करने से स्थायी लक्ष्मी का होता है वास

Happy diwali, laxmi pujan 2018, laxmi aarti, laxmi pujan, lakshmi pooja

दिवाली का शुभ मुहूर्त शुरू होने वाला है। शुभ चौघड़िया और स्थिर लग्न के मुहूर्त में दिवाली पूजन से मां लक्ष्मी का स्थायी वास आपके घर में होगा।  दिवाली की पूजा शुभ मुहूर्त में करने से पहले कुछ तैयारियां कर लें। सबसे पहले घर में वंदनवार लगाकर पूरे घर को अच्छे से सजाएं। इसके बाद मां लक्ष्मी और गणपति की प्रतिमा को साफ कर उन्हें आसन पर लाल रंग का कपड़ा बिछाकर विराजमान करें। पूजन करते समय इन चीजों  का ्ध्यान रखें।  सबसे पहले आपको पूजा के लिए संकल्प लेना होगा। श्रीगणेश, लक्ष्मी, सरस्वती जी के साथ कुबेर का पूजन करें।  -एकाक्षी नारियल या 11 कमलगट्टे पूजा स्थल पर रखें। ऊं श्रीं श्रीं हूं नम: का 11 बार या एक माला का जाप करें। देवी सूक्तम का पाठ करना भी बहुत उत्तम होता है।

लक्ष्मी पूजन के सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त
14 नवंबर 2020

घर पर दिवाली पूजन
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त: 14 नवंबर की शाम 5:28 से शाम 7:30 तक ( वृष, स्थिर लग्न)

प्रदोष काल मुहूर्त: 14 नवंबर की शाम 5:33 से रात्रि 8:12 तक

महानिशीथ काल मुहूर्त ( काली पूजा)

महानिशीथ काल मुहूर्त्त: रात्रि 11:39 से 00:32 तक।

सिंह काल मुहूर्त्त: रात्रि 12:15 से 02:19 तक।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Diwali Puja time and vidhi: here is sthir lagna Diwali muhurat to please maa Lakshmi