DA Image
4 मार्च, 2021|7:14|IST

अगली स्टोरी

Diwali 2020: सर्वार्थसिद्धि योग में आज मनाई जा रही है दीपावली, यह है लक्ष्मी पूजा का शुभ लाभ मुहूर्त

दिवाली पर इस बार बहुत ही उत्तम योग बन रहा है।  14 नवंबर शनिवार को दीपावली है। स्थिर लग्न में लक्ष्मी कुबेर पूजन का पूजन किया जाएगा। दीपावली पर शनि स्वाति योग से सर्वार्थ सिद्धि योग भी बन रहा है। यह योग सुबह से लेकर रात 8:48 तक रहेगा। दिवाली सर्वार्थसिद्धियोग के साथ ग्रहों की स्थिति भी बहुत उत्तम है। 

Diwali Rangoli design 2020: दिवाली पर बनाएं स्वास्तिक, मां लक्ष्मी के पदचिन्ह के डिजाइन की रंगोली

शुक्र बुध की राशि कन्या में , शनिदेव स्वराशि मकर में ,राहु शुक्र की राशि वृष में तो केतु मंगल की राशि वृश्चिक में हैं। इस दिन सूर्य तुला राशि मे ,चंद्रमा शुक्र की राशि तुला में ,पराक्रम कारक ग्रह मंगल गुरु की राशि मीन में , बुध शुक्र की राशि तुला में हैं। बताया जा रहा है कि ग्रहों की इस प्रकार की स्थिति 499 साल पहले 1521 में थी। दिवाली का पूजन स्थिर लग्न में करना अच्छा होता है। कहते हैं कि इस स्थिर लग्न में पूजन करने से माता लक्ष्मी आपके घर में ठहरती है। यहां पढ़ें दिवाली का पूजन मुहूर्त

Dhanteras and Diwali 2020: धनतेरस और दिवाली पर करें ये दो छोटे उपाय, स्थायी लक्ष्मी का होगा वास

स्थिरलग्न में पूजन महूर्त
वृषभ-सायं 5:30 से 7:30 के मध्य
सिंह -रात 12:00 से 2:15 के मध्य  

पूजन सामग्री- रोली, मौली, पान, सुपारी, अक्षत, धूप, घी का दीपक, तेल का दीपक, खील, बताशे, श्रीयंत्र, शंख , घंटी, चंदन, जलपात्र, कलश, लक्ष्मी-गणेश-सरस्वतीजी का चित्र, पंचामृत, गंगाजल, सिन्दूर, नैवेद्य, इत्र, जनेऊ, कमल का पुष्प, वस्त्र, कुमकुम, पुष्पमाला, फल, कर्पूर, नारियल, इलायची, दूर्वा।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Diwali 2020: Diwali will be 14 november in Sarvarthasiddhi Yoga this is diwali puja shubh muhurat