DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Diwali 2018 : यहां जानें दिवाली पर लक्ष्मी पूजा टाइम, विधि और मंत्र

diwali puja

इस साल दिवाली पर कई लाभकारी संयोग बन रहे हैं। गुरु और शनि का दुर्लभ योग बन रहा है। दिवाली पर देव गुरु बृहस्पति, मंगल के स्वामित्व वाली वृश्चिक राशि में रहेंगे। यहां पढ़ें दिवाली पूजा समय, विधि, शुभ मुहूर्त, मंत्र आदि के बारे में-

दिवाली पूजन का मुहूर्त -
घर के लिए- शाम 5.27 से 8.06 तक
व्यापारिक प्रतिष्ठान के लिए - दोपहर 1.35 से 2.59 तक

दिवाली 2018: यहां पढ़ें मां लक्ष्मी की पूरी आरती

#Diwali stories: सिर्फ भगवान राम के अयोध्या लौटने पर नहीं इन 4 कारणों से भी मनाई जाती है दिवाली


ऐसे करें लक्ष्मी पूजा-
- सबसे पहले गणेशजी, शंकर जी, श्रीनारायण, लक्ष्मीजी, काली जी, सरस्वतीजी, कुबेर की प्रतिमाओं को सुसज्जित करें।
- इसके बाद लक्ष्मी-गणेश को गंगाजल या पवित्र जल की कुछ बूंदें छिड़कर उनका स्नान कराएं।
-फिर लक्ष्मी गणेश, कुबेर व अन्य प्रतिमाओं पर पुष्प-माला चढ़ाएं और हल्दी चावल लगाए।
- फिर लक्ष्मी-गणेश जी की पूजा शुरू करने से पहले हाथ में अक्षत लेकर संकल्प करें।
- अब लक्ष्मी-गणेश की प्रतिमाओं की पूजा करें और उनके मंत्रों का जाप करें।
- इसके बाद लक्ष्मी-गणेश की आरती करें और प्रसाद चढ़ाएं। 

मंत्र- 
शंख चक्र गदा हस्ते महालक्ष्मी नमोस्तुते! 
नमस्तेस्तु महामाये श्री पीठे सुर पूजिते!

श्रीपीठ पर विराजमान, देवताओं द्वारा पूजित, हाथों में शंख चक्र गदा धारण करने वाली महालक्ष्मी को नमस्कार है।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Diwali 2018 : know the diwali puja or laxmi puja time widhi and mantra here