DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   धर्म  ›  इस दिन सूर्य उपासना से चमक उठता है भाग्य 

पंचांग-पुराणइस दिन सूर्य उपासना से चमक उठता है भाग्य 

लाइव हिन्दुस्तान टीम ,meerutPublished By: Arpan
Tue, 15 Dec 2020 02:33 AM
इस दिन सूर्य उपासना से चमक उठता है भाग्य 

सूर्यदेव का किसी राशि में प्रवेश संक्रांति कहलाता है। जब सूर्यदेव धनु राशि में प्रवेश करते हैं तो इसे धनु संक्रांति कहा जाता है। इस दिन सूर्यदेव, वृश्चिक राशि से निकलकर धनु राशि में प्रवेश करते हैं। धनु संक्रांति के दिन सूर्यदेव की उपासना का विशेष महत्व है। इस दिन सूर्यदेव की पूजा करना बहुत शुभ माना जाता है। मान्यता है कि इस दिन पवित्र नदियों में स्नान करने से समस्त पापों से मुक्ति मिलती है। यह भी माना जाता है कि इस दिन सूर्यदेव की उपासना करने से मनुष्य का भविष्य भी सूर्यदेव की भांति चमक उठता है। 

धनु राशि में सूर्यदेव का प्रवेश विशेष परिणाम उत्पन्न करता है। सूर्यदेव की पूजा सुबह से शाम तक की जा सकती है। सूर्यदेव को अर्घ्य देने से मन की शुद्धि होती है और बुद्धि, विवेक की प्राप्ति होती है। धनु संक्रांति के दिन भगवान सत्यनारायण की पूजा का विशेष महत्व है। इस दिन प्रातः सूर्यदेव की जल, पुष्प, धूप से उपासना करें। धनु संक्रांति के दिन उड़ीसा में भगवान जगन्नाथ की पूजा की जाती है। इस दिन भगवान जगन्नाथ को मीठाभात अर्पित किया जाता है और इसे प्रसाद के रूप में भक्तों में वितरित किया जाता है। धनु संक्रांति पर भागवत कथा सुनने का विशेष महत्व है। इस दिन दान-पुण्य करने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है। 

इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।

संबंधित खबरें