ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News Astrologydhanteras 2023 kab hai and its correct date dhanteras ka shubh muhurat

Dhanteras की तिथि को लेकर है कनफ्यूजन? यहां जानें त्रयोदशी तिथि की सही डेट और खरीदारी का शुभ मुहूर्त

Dhanteras 2023 Kab Hai:हिंदू धर्म में दिवाली के 5 दिनों के पर्व की शुरुआत धनतेरस से होती है। इस दिन शुभ समय में सोना-चांदी खरीदना बेहद शुभ होता है। मान्यता है कि ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि आती है।

Dhanteras की तिथि को लेकर है कनफ्यूजन? यहां जानें त्रयोदशी तिथि की सही डेट और खरीदारी का शुभ मुहूर्त
Arti Tripathiलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 08 Nov 2023 09:51 PM
ऐप पर पढ़ें

Dhanteras 2023 Date and Time: हिंदू धर्म में धनतेरस का बड़ा महत्व है। इस दिन से ही पांच दिनों के पर्व दिवाली यानी दीपावली की शुरुआत होती है। धनतेरस के दिन धन्वंतरि देव, कुबेर देवता, लक्ष्मी माता और गणेश जी की पूजा की जाती है। धार्मिक मान्यता है कि ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि और खुशहाली आती है। धनतेरस के दिन खरीदारी के शुभ मुहूर्त में सोना-चांदी और पीतल या तांबे का बर्तन खरीदना बेहद शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि इस दिन शुभ चीजों की खरीदारी से धन-दौलत में 13 गुना ज्यादा बरकत होती है। इस बार धनतेरस के तिथि को लेकर लोगों में असमंजस की स्थिति बनी हुई हैं, ऐसे में अगर आप भी धनतेरस की सही डेट को लेकर कनफ्यूज हैं तो आइए जानते हैं साल 2023 के धनतेरस की तिथि, पूजा और खरीदारी का शुभ मुहूर्त... 

धनतेरस का शुभ मुहूर्त: हर साल कार्तिक माह कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को धनतेरस मनाया जाता है। इसलिए धनतेरस को धनत्रयोदशी भी कहा जाता है। पंचांग के अनुसार, इस साल 10 नवंबर 2023 को  दोपहर 12 बजकर 35 मिनट से धनतेरस की शुरुआत होगी और 11 नवंबर 2023 को दोपहर 1 बजकर 57 मिनट पर समाप्त होगी। इसलिए उदया तिथि के अनुसार, इस बार 10 नवंबर 2023 को ही धनतेरस मनाया जाएगा।

धनतेरस की खरीदारी का शुभ मुहूर्त: धनतेरस के दिन प्रदोष काल में खरीदारी करना सबसे शुभ माना जाता है। धनतेरस के दिन दोपहर 2 बजकर 45 मिनट से लेकर 11 नवंबर 2023 को सुबह 6 बजकर 40 मिनट तक खरीदारी का शुभ मुहूर्त बन रहा है। इस दिन शाम को 5 बजकर 5 मिनट के बाद खरीदारी कर सकते हैं।

पूजा का शुभ मुहूर्त: पंचांग के अनुसार, धनतेरस में पूजा का शुभ मुहूर्त शाम 5 बजकर 45 मिनट से शुरू होकर 7 बजकर 42 मिनट पर समाप्त होगा। मान्यता है कि इस शुभ मुहूर्त में, लक्ष्मी, गणेश, कुबेर देवता और धन्वंतरि देव की पूजा-अराधना करने से घर में सुख-समृद्धि आती है।

डिस्क्लेमर: इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य है और सटीक है। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें