ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News AstrologyDhan Labh Ke Upay Vastu Tips For Money

धन-लाभ के लिए आज ही आजमाएं ये वास्तु टिप्स, आर्थिक स्थिति होगी मजबूत, मां लक्ष्मी की बरसेगी कृपा

Dhan Labh Upay Money Tips In Hindi: कई बार घर में वास्तु दोष होने के कारण कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। वास्तुदोषों की वजह से ही तरक्की व सुख-समृद्धि का आगमन नहीं होता है।

धन-लाभ के लिए आज ही आजमाएं ये वास्तु टिप्स, आर्थिक स्थिति होगी मजबूत, मां लक्ष्मी की बरसेगी कृपा
Yogesh Joshiलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीTue, 14 May 2024 11:03 PM
ऐप पर पढ़ें

Dhan Labh Ke Upay: कई बार घर में वास्तु दोष होने के कारण कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। वास्तुदोषों की वजह से ही तरक्की व सुख-समृद्धि का आगमन नहीं होता है। वास्तु शास्त्र में धन लाभ के लिए कुछ उपायों का वर्णन किया गया है। मान्यता है कि इन उपायों को अपनाने से भाग्योदय हो जाता है। आइए जानते हैं, धन-लाभ के उपाय-

इस दिशा को रखें साफ- वास्तु शास्त्र के अनुसार, धन के देवता कुबेर की उत्तर दिशा मानी गई है। ऐसे में इस दिशा को साफ रखने से मां लक्ष्मी का घर में आगमन होता है।

पूजा स्थल पर कभी धन संचय न करें- वास्तु के अनुसार, पूजा स्थल पर कभी धन संचय न करें। ऐसा करने से मन भगवान से ज्यादा पैसों में लगा रहता है। मान्यता है कि ऐसा करने से मां लक्ष्मी का घर में आगमन नहीं होता है।

मां लक्ष्मी की बैठी हुई मुद्रा- वास्तु शास्त्र के मुताबिक, घर या ऑफिस में हमेशा मां लक्ष्मी की बैठी हुई मुद्रा में लगानी चाहिए। इसके साथ ही उनके दोनों हाथी ऊपर की तरफ सूंड उठाए हुए हों। मान्यता है कि ऐसा करने से पैसों की  कमी नहीं होती है।

घर के अंदर प्लास्टिक या इस तरह के पेड़-पौधे नहीं रखने चाहिए-  वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर के अंदर प्लास्टिक या इस तरह के पेड़-पौधे नहीं रखने चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से घर में दरिद्रता आती है। इसके साथ ही घर में नकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

घर की रसोई में रात को जूठे बर्तन न रखें- वास्तु के अनुसार, घर की रसोई में रात को जूठे बर्तन नहीं रखने चाहिए। बर्तन रात में ही साफ कर लें। रात को जूठे बर्तन छोड़ने से धन हानि हो सकती है।

इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। विस्तृत और अधिक जानकारी के लिए संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।