ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News AstrologyDev Uthani ekadashi 2023 Tulsi ke upay Tulsi vivah easy remedies to please maa lakshami

देवउठनी एकादशी पर बने रहे हैं बेहद शुभ योग, तुलसी के इन सरल उपायों से घर आएंगी मां लक्ष्मी

Dev Uthani Ekadashi Date: हर साल कार्तिक माह शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को तुलसी और शालिग्राम जी का विवाह कराया जाता है। मान्यता है कि इस दिन तुलसी के पौधे की पूजा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं।

देवउठनी एकादशी पर बने रहे हैं बेहद शुभ योग, तुलसी के इन सरल उपायों से घर आएंगी मां लक्ष्मी
Arti Tripathiलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 23 Nov 2023 05:57 AM
ऐप पर पढ़ें

Dev Uthani Ekadashi 2023: हिंदू धर्म में हर साल कार्तिक माह शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को देवउठनी एकादशी मनाया जाता है। इस दिन मां लक्ष्मी और विष्णुजी की पूजा की जाती है। इस साल 23 नवंबर को देवउठनी एकादशी मनाई जाएगी। विष्णुजी को तुलसी भी बहतु प्रिय है। इसलिए देवउठनी एकादशी के दिन तुलसी के पौधे की पूजा का भी बड़ा महत्व है।  सनातन धर्म में देवउठनी एकादशी से ही मांगलिक कार्यों की शुरुआत होती है। इस दिन तुलसी और शालिग्राम जी के विवाह का आयोजन किया जाता है। मान्यता है कि ऐसा करने से जातक को कन्यादान के समान पुण्य मिलता है और सुख-सौभाग्य में वृद्धि होती है। इस साल देवउठनी एकादशी पर सर्वार्थ सिद्धि योग और रवि योग समेत कई शुभ योग बन रहे हैं। जिससे इस शुभ दिन पर किए गए उपायों से साधक की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। आइए जानते हैं विष्णुजी को प्रसन्न करने के लिए तुलसी के सरल उपाय...

तुलसी माता लाल रंग की चुनरी चढ़ाएं: देवउठनी एकादशी पर तुलसी माता को लाल रंग की चुनरी चढ़ाएं और उन्हें जल अर्पित करें। इसके साथ ही सायंकाल में उनके सामने घी का दीपक जरूर जलाएं। मान्यता है कि ऐसा करने से जीवन में आने वाली सभी अड़चनें दूर होती हैं।

तुलसी के पौधे पर बांधे कलावा: देवउठनी एकादशी के तुलसी के पौधे पर कलावा जरूर बांधें। मान्यता है कि ऐसा करने से जातक के सभी कष्ट दूर होते हैं और घर में सुख-समृद्धि और खुशहाली आती है।

तुलसी के पौधे पर कच्चा दूध चढ़ाएं: इस शुभ दिन पर तुलसी के पौधे पर कच्चा दूध चढ़ाना बहुत मंगलकारी माना जाता है। इसके साथ ही सुखी वैवाहिक जीवन के लिए तुलसी पर सोलह श्रृंगार की सामग्री अर्पित कर सकते हैं। मान्यता है कि ऐसा करने से अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है।

तुलसी विवाह का आयोजन: देवउठनी एकादशी के दिन तुलसी और शालिग्राम जी के विवाह का आयोजन करने से बहुत शुभ होता है। मान्यता है कि ऐसा करने से मैरिड लाइफ की दिक्कतें दूर होती हैं और पति-पत्नी के रिश्ते में प्यार बढ़ता है।

डिस्क्लेमर: इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य है और सटीक है। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें