Dev Uthani Ekadashi 2019: Do not do these common mistakes while doing tulsi puja Tulsi Vivah 2019 dev prabodhini ekadashi dev uthani ekadashi puja subh muhurat - देवउठनी एकादशी 2019: भूलकर भी तुलसी पूजा करते समय न करें ये गलतियां, भगवान विष्णु हो जाएंगे नाराज DA Image
9 दिसंबर, 2019|2:47|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देवउठनी एकादशी 2019: भूलकर भी तुलसी पूजा करते समय न करें ये गलतियां, भगवान विष्णु हो जाएंगे नाराज

devuthani ekadashi 2019

Dev Uthani Ekadashi 2019: इस साल देवउठनी एकादशी शुक्रवार यानी 8 नवंबर को मनाई जाएगी। हिंदू धर्म में इस दिन का बहुत बड़ा महत्व बताया गया है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार एकादशी के दिन से कोई भी मंगल कार्य शुरू किया जा सकता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार देवउठनी एकादशी के दिन श्री हरी चार महीने के शयनकाल के बाद जागते हैं। इस खास दिन तुलसी विवाह करने की भी परंपरा बताई जाती है।

बता दें, देवउठनी एकादशी हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मनाई जाती है। हिंदू धर्म में इस दिन भगवान विष्णु और लक्ष्मी के साथ तुलसी पूजा करने का भी विशेष महत्व बताया गया है। कहा जाता है कि इस दिन तुलसी पूजन से भगवान विष्णु और लक्ष्मी प्रसन्न होते हैं। लेकिन तुलसी पूजा करते समय हर व्यक्ति को कुछ बातों का खास ध्यान रखना चाहिए।

अगर आप चाहते हैं कि भगवान विष्णु की कृपा आपके साथ आपके परिवार पर भी बने रहे तो भूलकर भी देवउठनी एकादशी के दिन तुलसी विवाह करते समय न करें ये गलतियां। आइए जानते हैं आखिर क्या हैं ये गलतियां।   

भूलकर भी तुलसी पूजन के दौरान न करें ये गलतियां- 
-कभी भी सूर्यास्त के बाद तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए। 
-शास्त्रों के अनुसार तुलसी के पत्ते अमावस्या, चतुर्दशी तिथि, रविवार, शुक्रवार और सप्तमी तिथि को तोड़ना वर्जित माना गया है।
-अकारण तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए। यदि बताए गए वर्जित दिनों में तुलसी के पत्तों की जरुरत हो तो तुलसी के झड़े हुए पत्तों का उपयोग किया जा सकता है। तुसली के पत्ते न तोड़े। 
-यदि वर्जित की गई तिथियों में से किसी दिन तुलसी के पत्तों की आवश्यकता हो तो उस दिन से एक दिन पहले ही तुलसी के पत्ते तोड़कर अपने पास रख लें। पूजा में चढ़े हुए तुलसी के पत्ते धोकर फिर से पूजा में उपयोग किए जा सकते हैं।
-देवउठनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु और माता तुलसी का विवाह होता है। इस दिन हर सुहागन स्त्री को तुलसी विवाह जरूर करना चाहिए। ऐसा करने से अंखड सौभाग्य और सुख-समृद्धि का प्राप्ति होती है। तुलसी की पूजा करते समय तुलसी को लाल चुनरी जरूर चढ़ाएं।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dev Uthani Ekadashi 2019: Do not do these common mistakes while doing tulsi puja Tulsi Vivah 2019 dev prabodhini ekadashi dev uthani ekadashi puja subh muhurat