DA Image
29 मई, 2020|6:45|IST

अगली स्टोरी

Coronavirus: 5 अप्रैल को 9 बजे ऐसी होगी ग्रहों की स्थिति, रात नौ बजे नौ मिनट दीप जलाने का कहीं ये तो नहीं ज्योतिष से कनेक्शन?

DEEP

शुक्रवार को  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवेसियों  के लिए जारी वीडियो संदेश में 5 अप्रैल को रात नौ बजे घर के दरवाजे पर घर की सभी लाइटें बंद कर नौ मिनट तक दीप जलाने की अपील की है। उन्होंने कहा कि पांच अप्रैल को रविवार को रात नौ बजे, घर की सभी लाइटें बंद करके, घर के दरवाजे या बालकनी में खड़े रहकर नौ मिनट तक मोमबत्ती, दीया या टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाएं। पीएम मोदी की इस अपील को लोग कई तरह से जोड़कर देख रहे हैं। पीएम मोदी का देश की जनता से यह आह्वान ऐसे समय में जब पूरा विश्व कोरोना वायरस के संकट से जूझ रहा है। इसको लेकर सभी अपने-अपने तर्क दे रहे हैं। पीएम मोदी के इस आह्वान का ज्योतिषिय कनेक्शन यह भी हो सकता है। 

उत्थान ज्योतिष संस्थान के निदेशक ज्योतिर्विद एवं वास्तुविद पं दिवाकर त्रिपाठी के अनुसार इस प्रकार पांच 9 का संयोजन। अंक 9 ,को अंक ज्योतिष में मंगल का अंक माना जाता है। मंगल सम्पूर्णता का अंक है। साथ ही ऊर्जा कारक ग्रह है। इसको बल देने से सकारात्मक ऊर्जा की प्राप्ति होगी। विरोधी ताकतों को परास्त करने में बल मिलेगा। क्योंकि मंगल बल,पौरुष,सेना ,सेनापति आदि के कारक ग्रह भी है।

आध्यात्मिक कनेक्शन की बात करें तो उनके अनुसार ज्योतिर्विद त्रिपाठी के अनुसार 5 अप्रैल 2020 दिन रविवार को रवि प्रदोष व्रत है। रवि प्रदोष का दिन शिव शक्ति की उपासना का परम पूण्य दायक तिथि है। रविवार के दिन मुंदर नामक औदायिक योग का निर्माण भी हो रहा है। यह योग राक्षस ,विषाणु, राक्षसी प्रवृत्तियों के समन या मारने के लिए अति उत्तम योग है। दीर्घायु एवं आरोग्यता के लिए रवि प्रदोष व्रत किया जाता है। इस व्रत में प्रदोष काल के बाद रात्रि के प्रथम प्रहर में शिव-शक्ति की उपासना की जाती है। शिव ही संहार अथवा मृत्य दे स्वामी है । इस प्रकार इस दिन दीपक जलाने से शिव-शक्ति की उपासना सहज रूप से ही हो जाती। अतः राक्षसी प्रवृत्तियों ,वायरस का नाश होगा तथा लोगों में दीर्घायु एवं अरोग्य की वृद्धि होगी।

ज्योतिर्विद त्रिपाठी ने बताया कि 5 अप्रैल 2020 दिन रविवार को चंद्रमा का गोचर सिंह राशि मे होगा । अतः इस दिन की राशि होगी सिंह और गोचरीय ग्रहो की स्थिति है । रोग ऋण और शत्रु भाव मे मंगल,शनि और बृहस्पति गोचर करेंगे। राज्य एवं पराक्रम के कारक ग्रह शुक्र स्वगृही होकर राज्य भाव मे विद्यमान रहेंगे। षष्ट भाव मे शनि,मंगल,एवं गुरु में मंगल सबसे अधिक बलवान हो रहे है क्योंकि अंशो में सबसे अधिक होंगे उस दिन। साथ ही मंगल भाग्य एवं जनता कारक ग्रह होकर रोग एवं शत्रु भाव में उच्च का होकर भाग्य भाव पर दृष्टि पड़ेगी अतः दीपक जलाकर ऊर्जा उत्पादित करके मंगल को बल मिलेगा तो रोग से लड़ने की क्षमता बढ़ेगी।

ज्योतिर्विद एवं वास्तुविद पं दिवाकर त्रिपाठी की मानें तो जिस समय दीपक जलाया जाएगा उस समय अर्थात 9 बजे तुला लग्न का भोग हो रहा होगा। तुला लग्न में लग्नेश शुक्र अष्टम भाव मे होंगे। लग्नेश का अष्टम भाव मे होने से दीर्घायु की प्राप्ति होती है साथ ही उसी समय सूर्य रोग एवं शत्रु भाव मे विद्यमान होंगे अतः जब हम दीपक जलाकर उजाला करेंगे तो चमक से शुक्र को बल प्राप्त होगा एवं सूर्य उजाला ,दिन के कारक है अतः दीपक जलाकर उजाला करने से सुरु को भी बल मिलेगा तथा आम जन मानस को दीर्घायु की प्राप्ति होगी। स्व

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Coronavirus: PM Modi message on covid19 5 April 9 PM 9 Minutes the position of the planets will be such is there any astrological connection to light the lamp for nine minutes at nine o clock