DA Image
20 नवंबर, 2020|6:26|IST

अगली स्टोरी

छठ पूजा 2020 : श्रद्धालुओं ने डूबते सूर्य को दिया अर्घ्य

chhath puja time  file photo

1 / 2chhath puja time (file photo)

chhat puja ghat ready at hindan river ahead of evening puja

2 / 2chhat puja ghat ready at hindan river ahead of evening puja

PreviousNext

महापर्व छठ के मौके पर शुक्रवार शाम व्रतियों ने अस्ताचलगामी भगवान सूर्य को पहला अर्घ्य दिया। अब शनिवार सुबह उगते सूर्य को दूसरा अर्घ्य देने के साथ छठ पर्व का चार दिनी अनुष्ठान संपन्न होगा। इसके बाद व्रतियां पारण कर ठेकुआ का प्रसाद बांटेंगी। 

दिल्ली में कोरोना काल में यमुना घाट और सार्वजनिक स्थल पर छठ पूजा की अनुमति न होने की वजह से लोगों ने अपने घर की छतों पर ही अर्घ्य दिया। 

पूजा के लिए लोगों ने प्लास्टिक के टब खरीदे हैं। व्रतधारियों ने टब में भरे पानी में खड़े होकर अर्घ्य दिया। कुछ घरों में प्लास्टिक के टब की जगह रबर वाले बड़े टब और ईंट से चारदीवारी बनाकर उस पर प्लास्टिक की पन्नी लगाकर पानी से भर दिया गया है। घाट की तर्ज पर छठ पूजा के लिए घरों में वेदी भी बनाई गई है।

21 नवंबर 2020, उगते सूर्य को अर्घ्य
सूर्योदय टाइम- 6:49 am (दिल्ली में)
सूर्योदय टाइम- 6:11 am (पटना में)

पूर्वांचल विकास संगठन छठ पूजा समिति के अध्यक्ष अभय सिन्हा ने बताया कि इस बार यमुना घाट पर पूजा का आयोजन नहीं कर रहे हैं। लोग घरों की छत पर अर्घ्य दे सकें उसके लिए गरीब और असहाय लोगों के घर-घर जाकर छठ पूजन सामग्री उपलब्ध कराई है। साथ ही लोगों से घर पर ही पूजा करने का अनुरोध किया है, जिससे लोग कोरोना से बच सकें।

जेलरवाला बाग रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन अशोक विहार फेज-2 के मुख्य संरक्षक प्रवीण कुमार सिंह ने बताया कि इलाके में रहने वाले ज्यादातर पूर्वांचली अपने घरों से अर्घ्य दे सकें उसकी व्यवस्था करवाई है। इसके लिए प्लास्टिक के टब को खरीद गया है, जिसमें व्रतधारी खड़े होकर अर्घ्य दे सकेंगे। सरकार ने सार्वजनिक तौर पर पूजा आयोजन की अनुमति नहीं दी है। इसलिए अपने घरों में ही छठ पूजन किया जाएगा।

घरों में हुआ खरना
चार दिवसीय छठ पूजन के दूसरे दिन घरों में खरना हुआ, जिसमें गुड़ की खीर बनाई गई। साथ ही पूजा-अर्चना की गई। शुक्रवार सुबह छठ पूजा के लिए ठेकुआ का प्रसाद बनाया जाएगा। फिर शाम को डूबते सूर्य को अर्घ्य और अगले दिन प्रातकाल में उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। इसके बाद पूजा का समापन होगा। 

बाजार में जमकर खरीदारी
छठ पूजा से जुड़ी सामग्री को लेकर पहला अर्घ्य देने से पहले बाजारों में जमकर खरीदारी हुई। दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में पूजन सामग्री की खरीद के लिए महिलाओं की भीड़ जुटी हुई थी। पहाड़गंज के नेहरू बाजार में भी लोग पूजन सामग्री की खरीदारी करते दिखे।

घाटों पर पुलिस तैनात
शुक्रवार को डूबते सूर्य को पहला अर्घ्य दिया जाना है। इसे देखते हुए छठ पूजा घाटों पर पुलिस की तैनाती हो रखी है ताकि लोग घाटों पर न जुटें। वहीं, छठ पूजा समिति दिल्ली प्रदेश के सचिव ब्रजेश पांडेय और महासचिव ठाकुर जगदीश सिंह ने कहा कि आईटीओ घाट पर पिछले 40 वर्षों से छठ पूजा का आयोजन हो रहा है। लेकिन इस बार कोरोना के चलते सरकार ने पूजा की अनुमति नहीं दी है। व्रतधारियों से अनुरोध है कि वह घाटों पर पूजा करने के लिए न आएं। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए पुलिस और प्रशासन का सहयोग करें। इसमें हम सब लोगों की भलाई है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Chhath Puja: fasting devotees will offer arag to the setting sun today Sun will set at 5:26 pm in Delhi