ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ धर्मChhath Puja Arghya 2021: छठ पर्व का समापन आज, जानिए उदयगामी सूर्य के अर्घ्य का समय

Chhath Puja Arghya 2021: छठ पर्व का समापन आज, जानिए उदयगामी सूर्य के अर्घ्य का समय

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को छठ पर्व मनाया जाता है। इस साल यह तिथि 10 नवंबर, बुधवार को थी। छठ पर्व की शुरुआत 8 नवंबर को नहाए-खाय के साथ हुई थी। 10 नवंबर को छठ पर्व का दूसरा दिन...

Chhath Puja Arghya 2021: छठ पर्व का समापन आज, जानिए उदयगामी सूर्य के अर्घ्य का समय
Saumya Tiwariलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीThu, 11 Nov 2021 05:01 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को छठ पर्व मनाया जाता है। इस साल यह तिथि 10 नवंबर, बुधवार को थी। छठ पर्व की शुरुआत 8 नवंबर को नहाए-खाय के साथ हुई थी। 10 नवंबर को छठ पर्व का दूसरा दिन खरना मनाया गया। 10 नवंबर को डूबते सूर्य को पहला अर्घ्य दिया गया और 11 नवंबर यानी आज को उगते सूर्य को अर्घ्य के साथ छठ पर्व संपन्न होगा।

छठ पर्व मुख्य तौर पर बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में मनाया जाता है। छठ पर्व में 36 घंटे का निर्जला व्रत रखा जाता है। धार्मिक मान्यताओं को अनुसार, छठ व्रत खास तौर पर संतान प्राप्ति और उसकी खुशहाली के लिए रखा जाता है। जो लोग संतान सुख से वंचित हैं, उनके लिए यह व्रत लाभकारी साबित होता है। मान्यता है कि छठ पूजा करने से छठी मइया की कृपा से भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

 छठ पूजा की अपनों को इन चुनिंदा SMS से भेजें बधाई, कहें- 'छठ मैया करेंगी बेड़ा पार'

छठ पूजा संध्या अर्घ्य और उषा अर्घ्य समय (Chhath Puja Sandhya Arghya Time 2021)-

बिहार में बुधवार को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य का समय शाम 4:30 से 5:26 बजे तक रहा। गुरुवार सुबह उदयगामी सूर्य को अर्घ्य का समय 6:34 बजे है।

सभी दुखों का नाश करता है छठ व्रत, पढ़ें ब्रह्म पुराण में वर्णित मान्यता

छठ पूजा के लिए इन चीजों की पड़ती है जरूरत: 

प्रसाद रखने के लिए बांस की दो तीन बड़ी टोकरी,  बांस या पीतल के बने तीन सूप, लोटा, थाली, दूध और जल के लिए ग्लास, नए वस्त्र साड़ी-कुर्ता पजामा, चावल, लाल सिंदूर, धूप और बड़ा दीपक, पानी वाला नारियल, गन्ना जिसमें पत्ता लगा हो, सुथनी और शकरकंदी, हल्दी और अदरक का पौधा हरा हो तो अच्छा, नाशपाती और बड़ा वाला मीठा नींबू, जिसे टाब भी कहते हैं, शहद की डिब्बी, पान और साबुत सुपारी, कैराव, कपूर, कुमकुम, चन्दन, मिठाई।

epaper